भारत के राष्ट्रीय प्रतीक


1. राष्ट्रीय ध्वज- तिरंगा
-राष्ट्रीय ध्वज का प्रारूप संविधान निर्मात्री सभा द्वारा 22 जुलाई, 1947 को अपनाया गया।
-तिरंगे मे तीन समान चौड़ाई की क्षैतिज पट्टियां है।
-सबसे ऊपर केसरिया, बीच मे सफेद और नीचे गहरी हरे रंग की पट्टी है।
-केसरिया शक्ति का, सफेद शांति का और हरा समृद्धि का प्रतीक है।
-तिरंगे की सफेद पट्टी के बीच मे एक चक्र है जिसका रंग नीला है और उसमे 24 तीलियां है।
-ध्वज की लम्बाई और चौड़ाई का अनुपात 3 : 2 है।

2. राज चिन्ह- सारनाथ मे स्थापित सिंह स्तम्भ
-भारत सरकार द्वारा यह चिन्ह 26 जनवरी, 1950 को अपनाया गया।
-इस राज चिन्ह के मुल स्तम्भ मे शीर्ष पर चार सिंह है जो एक दुसरे की विपरीत दिशा मे घूम कर बैठे है।
-इसके नीचे घण्टे के आकार के पद्म के ऊपर एक चित्रवल्लरी मे एक हाथी है।
-सिंह शीर्ष के नीचे स्थित पट्टी के मध्य मे उभरी हुई नक्काशी मे चक्र है जिसके दाई ओर एक सांड और बाई ओर चौकड़ी भरता हुआ एक घोड़ा है तथा एक सिंह की उभरी हुई आकृति है जिसके बीच-बीच मे चक्र बना हुआ है।
-यह सम्पूर्ण सिंह स्तम्भ एक ही पत्थर को काटकर बनाया गया है।
-फलक के नीचे मुण्डकोपनिषद् से उद्धृत सूत्र 'सत्यमेव जयते' लिखा गया है जिसकी लिपि देवनागरी है।
-'सत्यमेव जयते' का अर्थ है कि सत्य की ही विजय होती है।

3. राष्ट्रीय गान- जन-गण-मन
-इसे राष्ट्रगान के रूप मे संविधान सभा ने 24 जनवरी, 1950 को स्वीकृति दि गई।
-इसके रचियता रवीन्द्र नाथ टैगोर है।
-इसे गाने का कुल निर्धारित समय 52 सेकण्ड है।
-यह गान सर्वप्रथम भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कलकत्ता अधिवेशन मे 27 दिसम्बर, 1911 को गाया गया था।
-मूल रूप मे यह गीत 5 पदो मे है परन्तु राष्ट्रीय गान के रूप मे इसका मात्र प्रथम पद ही मान्य है जिसमे 13 पंक्तिया है।
-यह गान सर्वप्रथम जनवरी 1912 मे तत्त्वबोधिनी नामक पत्रीका मे भारत भाग्य विधाता शीर्षक से प्रकाशित हुआ था।

4. राष्ट्रीय गीत- वन्देमातरम्
-संविधान सभा मे 24 जनवरी, 1950 को इसे राष्ट्रीय गीत का दर्जा दिया गया था।
-इस गीत की रचना सितम्बर-अक्टूबर, 1874 ई. मे बंकिमचन्द्र चटर्जी द्वारा की गयी थी।
-इस गीत को आनन्दमठ से लिया गया है।
-सम्पूर्ण गीत मे पाँच पद है परन्तु इसका प्रथम पद ही राष्ट्रगीत के रूप मे स्वीकार किया गया है।
-भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के 1896 ई, के अधिवेशन मे  इसे पहली बार गाया गया था।
-इस गीत के गाने की अवधि एक मिनट पाँच सेकण्ड है।

5. राष्ट्रीय पंचांग-
-यह शक संवत् पर आधारित है।
-ग्रिगेरियन कैलेण्डर का भी आधार शक संवत् है।
-भारतीय संविधान ने इसे 22 मार्च, 1957 ई. को राष्ट्रीय पंचांग के रूप मे स्वीकार किया।
-78 ई. मे प्रारम्भ हुए शक संवत् का पहला महीना चैत्र का व अंतिम महीना फाल्गुन का है।
-चैत्र माह का पहला दिन 22 मार्च को पड़ता है परन्तु अधिवर्ष मे यह 21 मार्च को पड़ता है।
-राष्ट्रीय पंचांग के माह क्रम से- चैत्र, वैशाख, ज्येष्ठ, आषाढ़, श्रावण, भाद्रपद, आश्विन, कार्तिक, मार्गशीर्ष, पौष, माघ, फाल्गुन

6. राष्ट्रीय पशु- बाघ
-देश मे बाघ परियोजना के अन्तर्गत अब तक 48 अभ्यारण्य स्थापित किये गये है।
-भारत मे बाघ की पायी जाने वाली प्रजाति को रॉयल बंगाल के नाम से जाना जाता है।

7. राष्ट्रीय विरासत पशु- हाथी
-राष्ट्रीय वन्यजीव बोर्ड की स्थायी समिति ने 13 अक्टूबर, 2010 को संपन्न बैठक मे इसे स्वीकृती दी थी जिसकी अधिसूचना पर्यावरण मंत्रालय ने 22 अक्टूबर, 2010 को जारी की थी।

8. राष्ट्रीय पुष्प- कमल
-यह हल्का गुलाबी रंग का होता है।
-इसे शांति का प्रतीक माना जाता है।

9. राष्ट्रीय जलीय जीव- डॉल्फिन/गंगा डॉल्फिन
-भारत सरकार ने डॉल्फिन को 5 अक्टूबर, 2009 को राष्ट्रीय जलीय जीव घोषित किया है।

10. राष्ट्रीय पक्षी- मयूर/मोर
-भारतीय वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 के अन्तर्गत इसे पूर्ण संरक्षण प्राप्त है।

11. राष्ट्रीय नदी- गंगा
-गंगा को राष्ट्रीय नदी 4 नवम्बर, 2008 को घोषित किया गया

12. राष्ट्रीय फल- आम

13. राष्ट्रीय वृक्ष- वट वृक्ष/बरगद का पेड़

2 comments:

कृपया कमेंट में कोई भी लिंक ना डालें