Trending Now

Latest Updates

पुरालेख

पुरालेख- लिखित दस्तावेज पुरालेख कहलाते है। पुरालेख की सामग्री सरकारी विभागों, प्राचीन घरानों आदि में पायी जाती है। राजस्थान का इतिहास जानने...

राजस्थान की प्रमुख ख्यात

ख्यात- राजस्थान के वे ग्रंथ या साहित्य जिनमें राजा के दैनिक जीवन की घटनाओं का उल्लेख या वर्णन होता है ख्यात कहलाते है। ख्यात राजस्थानी भाषा...

राजस्थान के प्रमुख शोध संस्थान एवं संग्रहालय (म्यूजियम)

1. केन्द्रीय संग्रहालय या एल्बर्ट हाॅल म्यूजियम (जयपुर, राजस्थान)- यह संग्रहालय जयपुर में स्थित है। इस म्यूजियम की नींव महाराजा रामसिंह द्व...

राजस्थान के प्रमुख अभिलेख (शिलालेख) एवं प्रशस्तियां

बिजौलिया शिलालेख-  बिजौलिया शिलालेख 5 फरवरी, 1170 ई. को राजस्थान के भीलवाड़ा जिले की बिजौलिया नामक स्थान पर पार्श्वनाथ मंदिर के पास एक चट्टा...

झुंझुनू जिले का सामान्य ज्ञान

झुंझुनू जिले का भूगोल- अक्षांशीय विस्तार-  झुंझुनू  जिले का अक्षांशीय विस्तार  27°38′ से 28°31′ उत्तरी अक्षांश तक है। देशांतरीय विस्तार-   झ...

बांसवाड़ा जिले का सामान्य ज्ञान

बांसवाड़ा जिले का भूगोल बांसवाड़ा जिला- राजस्थान का बांसवाड़ा जिला दिशा की दृष्टि से राजस्थान की दक्षिणी दिशा में स्थित है। बांसवाड़ा ज...

प्रधानमंत्री एवं मंत्रिपरिषद

ब्रिटेन-  विश्व में सर्वप्रथम प्रधानमंत्री पद की शुरुआत ब्रिटेन में हुई थी। ब्रिटेन में प्रधानमंत्री पद की शुरुआत 18वीं सदी में हुई थी। ब्र...

राजस्थान की मिट्टियाँ व मिट्टियों के प्रकार

राजस्थान में मुख्यतः मिट्टियों का वर्गीकरण उर्वरकता के आधार पर किया गया है। राजस्थान में मिट्टियों के प्रकार- 1. रेतीली मिट्टी या बलु...

कंजर जनजाति

कंजर शब्द की उत्पत्ती संस्कृत शब्द काननचार या कानकचार से हुई है। काननचार या कानकचार शब्द का शाब्दिक अर्थ जंगल में विचरण करने वाला।  कंजर जन...

डामोर जनजाति

राजस्थान में डामोर जनजाति की उत्पत्ती राजपूतों से मानी जाती है। राजस्थान में डामोर जनजाति के पुरुष भी स्त्रियों की तरह गहने पहनते है। रा...