Trending Now

Latest Updates

राजस्थान के प्रमुख अभिलेख (शिलालेख) एवं प्रशस्तियां

बिजौलिया शिलालेख-  बिजौलिया शिलालेख 5 फरवरी, 1170 ई. को राजस्थान के भीलवाड़ा जिले की बिजौलिया नामक स्थान पर पार्श्वनाथ मंदिर के पास एक चट्टा...

झुंझुनू जिले का सामान्य ज्ञान

झुंझुनू जिले का भूगोल- अक्षांशीय विस्तार-  झुंझुनू  जिले का अक्षांशीय विस्तार  27°38′ से 28°31′ उत्तरी अक्षांश तक है। देशांतरीय विस्तार-   झ...

बांसवाड़ा जिले का सामान्य ज्ञान

बांसवाड़ा जिले का भूगोल बांसवाड़ा जिला- राजस्थान का बांसवाड़ा जिला दिशा की दृष्टि से राजस्थान की दक्षिणी दिशा में स्थित है। बांसवाड़ा ज...

प्रधानमंत्री एवं मंत्रिपरिषद

ब्रिटेन-  विश्व में सर्वप्रथम प्रधानमंत्री पद की शुरुआत ब्रिटेन में हुई थी। ब्रिटेन में प्रधानमंत्री पद की शुरुआत 18वीं सदी में हुई थी। ब्र...

राजस्थान की मिट्टियाँ व मिट्टियों के प्रकार

राजस्थान में मुख्यतः मिट्टियों का वर्गीकरण उर्वरकता के आधार पर किया गया है। राजस्थान में मिट्टियों के प्रकार- 1. रेतीली मिट्टी या बलु...

कंजर जनजाति

कंजर शब्द की उत्पत्ती संस्कृत शब्द काननचार या कानकचार से हुई है। काननचार या कानकचार शब्द का शाब्दिक अर्थ जंगल में विचरण करने वाला।  कंजर जन...

डामोर जनजाति

राजस्थान में डामोर जनजाति की उत्पत्ती राजपूतों से मानी जाती है। राजस्थान में डामोर जनजाति के पुरुष भी स्त्रियों की तरह गहने पहनते है। रा...

सहरिया जनजाति

सहरिया जनजाति राजस्थान की चौथी सबसे बड़ी जनजाति मानी जाती है। कतिपय मानवशास्त्री के अनुसार सहरिया शब्द की उत्पत्ती फारसी भाषा के सहर शब्द स...

गरासिया जनजाति

राजस्थान में मीणा तथा भील जनजाति के बाद राजस्थान की तीसरी सबसे बड़ी जनजाति गरासिया जनजाति है। गरासिया जनजाति को चौहानों का वंशज माना जाता ह...