राजस्थान के प्रमुख खनिज

राजस्थान में खनिज संसाधन
➯खनिज भण्डारण की दृष्टि से भारत में राजस्थान का दूसरा स्थान है।
➯उत्पादन की मात्रा की दृष्टि से भारत में राजस्थान का पांचवा स्थान है।
➯विक्रय मुल्य या आय की दृष्टि से भारत में राजस्थान का पांचवा स्थान है।
➯धात्विक खनिजों में भारत में राजस्थान का चौथा स्थान है।
➯अलौह धातु खनिज में भारत में राजस्थान का प्रथम स्थान है।
➯भारत के कुल खनिज उत्पादन में राजस्थान 22 प्रतिशत खनिज उत्पादन करता है।
➯17 खनिजों के उत्पादन में भारत में राजस्थान का पहला स्थान है।
➯अधात्विक खनिजों में भारत के कुल उत्पादन का 25 प्रतिशत उत्पादन राजस्थान से होता है।
➯धात्विक खनिजों में भारत के कुल उत्पादन का 15 प्रतिशत उत्पादन राजस्थान से होता है।
➯लघु खनिजों में भारत के कुल उत्पादन का 26 प्रतिशत उत्पादन राजस्थान से होता है।

👉प्रमुख धात्विक खनिज-
1. सोना
2. चांदी
3. तांबा
4. लौहा
5. टंगस्टन
6. मैगनीज
7. सीसा-जस्ता

1. सोना-
➯सोना शुद्धतम रूप से प्राप्त होने वाली धातु है।
➯सोने के लिए राजस्थान में चर्चित जिले बांसवाड़ा व डूंगरपुर है।
➯सोने के उत्पादन के लिए राजस्थान में बांसवाड़ा की आनंदपुर भुकिया व जगपुर की खाने प्रसिद्ध है।
➯वर्तमान में राजस्थान में अलवर, दौसा, सवाईमाधोपुर से सोने के भण्डार मिले है।

2. चांदी-
➯चांदी विद्युत का अच्छा सुचालक होता है।
➯चांदी उत्पादन में भारत में राजस्थान का प्रथम स्थान है।
➯भारत के कुल चांदी उत्पादन का 90 प्रतिशत चांदी उत्पादन राजस्थान से होता है।
➯चांदी सीसे व जस्ते के साथ निकलती है।
➯चांदी के मुख्य अयस्क अर्जेन्टाइट, हाॅर्न सिल्वर व जाइराजाइट है।
➯चांदी अयस्क का शोधन बिहार की ढुंडु नामक जगह पर होता है।
➯राजस्थान में चांदी की सबसे बड़ी खान उदयपुर जिले की देबारी नामक जगह पर स्थित जावर की खान है। जिसकी जानकारी राणा लाखा के समय मिली थी।
➯जावर का प्राचीन नाम योगिनी पट्टनम था।
➯जावर (देबारी, उदयपुर) में रमाबाई का कुण्ड व मंदिर स्थित है।
➯रमाबाई महाराणा कुम्भा की पुत्री थी जो वागीश्वरी के नाम से प्रसिद्ध हुई।

3. तांबा-
➯तांबा उत्पादन में भारत में प्रथम स्थान झारखण्ड का है झारखण्ड के बाद राजस्थान का दूसरा स्थान है।
➯तांबा भण्डारण की दृष्टि से भारत में प्रथम स्थान झारखण्ड, दूसरा स्थान आंद्रप्रदेश व तीसरे स्थान पर राजस्थान है।
➯मानव द्वारा प्रयोग में ली गई पहली धातु तांबा है।
➯राजस्थान में प्रमुख तांबा उत्पादक जिला झुन्झुनू है।

➯तांबे की खोज के लिए अलवर का मूंडियावास क्षेत्र चर्चित रहा था।

👉राजस्थान में प्रमुख तांबा उत्पादक क्षेत्र-
1. अलवर- खोदरिबा
2. झुन्झुनू- काॅपर, कोलिहान व चांदमारी
3. सिरोही- अंजनी बसंतगढ़

👉हिन्दुस्तान काॅपर लिमिटेड (HCL)-
➯हिन्दुस्तान काॅपर लिमिटेड राजस्थान के झुन्झुनू जिले के खेतड़ी शहर में कार्यरत है।
➯हिन्दुस्तान काॅपर लिमिटेड की स्थापना सन् 1967 में अमेरिका के सहयोग से हुई थी।
➯हिन्दुस्तान काॅपर लिमिटेड भारत सरकार का उपक्रम है।

4. लौहा-
➯लोह धातु की जानकारी सर्वप्रथम वैदिक सभ्यता से प्राप्त हुई है।
➯सिंधु घाटी सभ्यता के लोग लोह धातु से अपरिचित थे।
➯लोहे के प्राचीनतम अवशेष अंतरिजखेड़ा (उत्तर प्रदेश) से मिले है।
➯राजस्थान में सर्वाधिक लोह उत्पादक जिला जयपुर है।

👉राजस्थान में प्रमुख लोह उत्पाद क्षेत्र-
1. चोमू (जयपुर)- मोरीजा/ मीरोजा बनौला
2. दौसा- नीमला राइसेला
3. भीलवाड़ा- तिरगा पहाड़ी
4. उदयपुर- नाथरा की पाल व थुर हुण्डेर
5. झुन्झुनू- डाबला, सिंघाना

👉लोहे की प्रमुख किस्में-
1. मैग्नेटाइट
2. सिडेटाइट
3. लियोनाइट
4. हेमेटाइट

👉हेमेटाइट-
➯राजस्थान में हेमेटाइट किस्म का लौहा पाया जाता है।
➯हेमेटाइट किस्म के लोहे में शुद्ध लोहे की मात्रा 65 प्रतिशत होती है।

5. टंगस्टन-
➯टंगस्टन का अयस्क वुलफ्रेमाइट है।
➯टंगस्टन सामरिक खनिज है। (सुरक्षा उपकरणों के लिए)
➯टंगस्टन के उत्पादन में भारत में राजस्थान का प्रथम स्थान है।
➯राजस्थान में टंगस्टन का प्रमुख उत्पादक जिला नागौर है।

👉राजस्थान में टंगस्टन के प्रमुख उत्पादक क्षेत्र-
1. डेगाना भाकरी (नागौर)- रेवत की पहाड़ी
2. पाली- नान करारा बाव
3. सिरोही- बाल्दा

6. मैगनीज-
➯मैगनीज के मुख्य अयस्क साइलोमैलीन, ब्रोनाइट व पाइरोलुसाइट है।
➯राजस्थान में मैगनीज का सर्वाधिक उत्पादक जिला बांसवाड़ा है।
➯बांसवाड़ा में मैगनीज उत्पादन के क्षेत्र लीलवाना, लोहरिया, तामेसर खान है।

7. सीसा जस्ता-
➯सीसा जस्ता उत्पादन में भारत में राजस्थान का प्रथम स्थान है।
➯सीसा जस्ता व चांदी का मिश्रित रूप गैलेना कहलाता है।
➯राजस्थान में सीसा जस्ता का प्रमुख उत्पादक जिला उदयपुर है।

👉राजस्थान में सीसा जस्ता के प्रमुख उत्पादक क्षेत्र-
1. उदयपुर- जावरमाला व मोचिया मगरा
2. राजसमंद- राजपुरा दरीबा
3. भीलवाड़ा- रामपुरा आंगुचा
4. सवाई माधोपुर- चौथ का बरवाड़ा
5. अजमेर- कायड़

👉राजस्थान में प्रमुख जस्ता परिशोधन संयत्र-
1. देबारी (उदयपुर)
2. चंदेरिया (चित्तोड़गढ़)
➯चंदेरिया में जस्ता परिशोधन संयत्र ब्रिटेन के सहयोग से स्थापित किया गया था।
3. हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड-
➯हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड की स्थापना सन् 1866 में की गई थी।
➯हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड का मुख्यालय देबारी (उदयपुर) में स्थित है।
➯हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड भारत सरकार का उपक्रम है।

TopicsLinks
India GKClick here
World GKClick here
Current GKClick here
Rajasthan GKClick here
General ScienceClick here
ResultsClick here
SyllabusClick here
Admit CardClick here
Answer KeyClick here

No comments:

Post a Comment

कृपया कमेंट में कोई भी लिंक ना डालें