राजस्थान में प्रजामंडल

-देशी राज्यो की जनता को अपने अधिकारो हेतु जागरूक करने व उत्तरदायी शासन की मांग हेतु प्रजामंडलो का गठन किया गया था।
-अखिल भीरतीय देशी राज्य लोक परिषद की स्थापना 1927 ई. में मुम्बई में की गयी थी।
-इस परिषद का मुख्य उद्देश्य देशी राज्यो में शासको के नेतृत्व में उत्तरदायी शासन स्थापित करना था।
-सन् 1938 मे कांग्रेस के हरिपुरा अधिवेशन (गुजरात) मे सुभाष चन्द्र बोस की अध्यक्षता मे निर्णय लिया गया की देशी रियासतो के लोगो द्वारा संघर्ष को कांग्रेस समर्थन देगी।
-जयपुर प्रजामंडल राजस्थान का प्रथम प्रजामंडल था।
-सर्वप्रथम उत्तरदायी शासन स्थापित करने वाला प्रजामंडल राजस्थान का शाहपुरा था।
-झालावाड़ प्रजामंडल राजस्थान का अंतिम प्रजामंडल था।
-टोंक राजस्थान की एकमात्र रियासत थी जिसमे प्रजामंडल का गठन नही हुआ।
-प्रजामंडल आंदोलन में नाथद्वारा की गंगाबाई ने सक्रिय भुमिका निभायी थी।

* वह प्रजामंडल  जिसकी स्थापना राज्य से बाहर हुई
(1) बीकानेर प्रजामंडल की स्थापना कलकत्ता में  सन् 1956 में हुई
(2) सिरोही प्रजामंडल की स्थापना मुम्बई में सन् 1934 में हुई (यह वृद्धी शंकर द्वारा भीम शंकर की अध्यक्षता में किया गया था।)

जयनारायण व्यास-
-जोधपुर प्रजामंडल की स्थापना सन् 1934 में जयनारायण व्यास द्वारा भवरलाल सराफ की अध्यक्षता में की गयी थी।
-सन् 1934 में मारवाड़ पब्लिश सोसायटी ओर्डीनेस जारी किया गया था।
-राजपुताना की जयपुर रियासत ने आजाद मोर्चे की स्थापना की थी।
-Gentleman Agreement जयपुर रियासत/प्रजामंडल से संबंधित था।
-जयनारायण व्यास द्वारा मारवाड़ युथ लिग की स्थापना की गयी थी।
-जयनारायण व्यास राजस्थान में देशी राज्य लोक परिषद के नेता थे।
-जयनारायण व्यास ने अखण्ड सामाचार पत्र का प्रकाशन किया।
-जयनारायण व्यास ने जोधपुर में सन् 1929 में मारवाड़ हितकारणी सभा स्थापित की थी।

-सन् 1930 में भरतपुर में राजनैतिक जागृती का श्रेय युगल किशोर चतुर्वेदी को दिया जाता है।
-भारत छोड़ो आंदोलन को दौरान Gentleman Agreement मिर्जा इस्माइल व हीरालाल शास्त्री के मध्य सम्पन हुआ।
-उदयपुर में जवाहर लाल नेहरू की अध्यक्षता में अखिल भारतीय देशी राज्य प्रजा परिषद का 7 वा अधिवेशन अायोजित किया गया।
-उत्तरदायी शासन की स्थापना की मांग स्वीकार करने पर भरतपुर के राजा किशनसिंह को राजगद्दी त्याग हेतु बाध्य किया गया
-सन् 1936 में प्रांतीय प्रजामंडल जोधपुर ने कृष्णा दिवस मनाया था।
-जैसलमेर में गुण्डाराज नामक पुस्तक सागरमल गोपा द्वारा लिखी गई
-राजपुताना मध्य भारत सभा राजनैतिक संस्था दिल्ली में स्थापित की गई
-डावी (बाई) और जीवणी (दाई) साम्मतो की श्रेणी राजस्थान में जैसलमेर में प्रचलीत थी।
-17 जुलाई, 1946 को बीकानेर प्रजामंडल द्वारा बीरबल दिवस मनाया गया था।
-राजस्थान के अलवर रियासत ते राजा द्वारा भारत में सर्वप्रथम स मिलन पत्र पर हस्ताक्षर किये गये।
-कुशलगढ़ प्रजामंडल की स्थापना अप्रेल 1921 में हुई थी।
-राजकीय सरक्षण झालावाड़ प्रजामंडल के राजा हरिशचन्द्र को प्राप्त था।
-रियासत शासक द्वारा सरक्षण देकर बनने वाला एकमात्र प्रजामंडल झालावाड़ था।
-प्रजामंडलो के समय स्याणा राणौजी नामक गीत प्रसिद्ध था।

* प्रजामंडलो के संस्थापक-

-प्रजामंडल - संस्थापक का नाम
1. शाहपुरा प्रजामंडल- रमेश चन्द्र औझा
2. बीकानेर प्रजामंडल- मैगाराम वैध
3. जैसलमेर प्रजामंडल- मीठालाल व्यास
4. किशनगढ़ प्रजामंडल- कान्तीलाल
5. मेवाड़ प्रजामंडल- माणिक्य लाल वर्मा
6. डुँगरपुर प्रजामंडल- भोगी लाल पांड्या
7. बाँसवाड़ा प्रजामंडल- भूपेन्द्र नाथ त्रिवेदी
8. कोटा प्रजामंडल- नयन राम शर्मा
9. बूंदी प्रजामंडल- कान्तीलाल
10. जयपुर प्रजामंडल- कपुरचन्द पाटनी व जमनालाल बजाज

4 comments:

कृपया कमेंट में कोई भी लिंक ना डालें