लोकसभा


* अनुच्छेद 81-
-इस अनुच्छेद के अनुसार लोकसभा का गठन किया गया है।

* लोकसभा के उपनाम-
-(1) निम्न सदन
-(2) प्रथम सदन
-(3) अस्थाई सदन
-(4) जनता का सदन
-(5) लोकप्रिय सदन
-(6) मूर्खो का सभागार

-भारत में प्रथम आम चुनाव सन् 1952 में हुये थे।
-भारत में प्रथम लोकसभा का गठन 6 मई, 1952 को किया गया था।

-प्रथम लोकसभा की बैठक 13 मई, 1952 को आयोजित की गई थी।
-वर्तमान में 16 वीं लोकसभा चल रही है जिसका कार्यकाल 2014 से 2019 तक है।
-राष्ट्रपति लोकसभा को भंग/विघटित कर सकता है।
-सबसे बड़ी लोकसभा (कार्यकाल की दृष्टि से)- 5 वीं (1971-1977)
-सबसे छोटी लोकसभा (कार्यकाल की दृष्टि से)- 8 वीं (3 वर्ष)

* अध्यक्ष-
-लोक सभा अध्यक्ष को स्पिकर, चैयर पर्सन तथा सभापति भी कहते है।
-लोकसभा अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष को कोई भी शपथ नहीं दिलाता है क्योकी ये दोनो लोकसभा सदस्य के रूप में पहलें ही शपथ ले लेते है।
-लोकसभा अध्यक्ष अपना त्याग-पत्र लोकसभा उपाध्यक्ष को देता है तथा लोकसभा उपाध्यक्ष अपना त्याग-पत्र लोकसभा अध्यक्ष को देता है।
-प्रथम लोकसभा अध्यक्ष- गणेश वासुदेव मावलंकर (G.V. मावलंकर)
-प्रथम दलित लोकसभा अध्यक्ष- M.C. बालयोगी
-सबसे युवा लोकसभा अध्यक्ष- निलम संजीव रेड्डी
-लोकसभा अध्यक्ष के पद से त्याग-पत्र देने वाला प्रथम अध्यक्ष- निलम संजीव रेड्डी
-प्रथम महिला लोकसभा अध्यक्ष- मीरा कुमार (2009-2014)
-वर्तमान लोकसभा अध्यक्ष- सुमित्रा महाजन (2014 से)
-सुमित्रा महाजन-
-सुमित्रा महाजन दुसरी महिला लोकसभा अध्यक्ष है।
-सुमित्रा महाजन मुल रूप से गुजरात से है।

* उपाध्यक्ष-
-लोकसभा उपाध्यक्ष को उप-सभापति भी कहते है।
-प्रथम लोकसभा उपाध्यक्ष- अनन्तशयनम् अच्यगर
-वर्तमान लोकसभा उपाध्यक्ष- थुम्बई दुरई

* वेतन-
-लोकसभा अध्यक्ष का वेतन 1,25,000 रुपये है।
-लोकसभा सदस्यो का वेतन 50,000 रुपये है।

* लोकसभा का प्रोटेम स्पिकर-
-प्रोटेम स्पिकर को अंतिम तथा तात्कालिक अध्यक्ष भी कहते है।
-प्रोटेम स्पिकर के निर्देशन में लोकसभा की पहले दिन या पहली बैठक की कार्यवाही शुरू की जाती है।
-राष्ट्रपति वरिष्ठता के आधार पर ही लोकसभा सदस्यो में से ही प्रोटेम स्पिकर कि नियुक्ती करता है।
-प्रोटेम स्पिकर का मुख्य कार्य नवनिर्वाचित लोकसभा सदस्यो को शपथ दिलाना होता है।
-वर्तमान प्रोटेम स्पिकर- कमलनाथ

* कार्यकाल-
-लोकसभा अध्यक्ष तथा सदस्यो का सामान्य कार्यकाल 5 वर्ष होता है परन्तु 5 वर्ष से पूर्व भी प्रधानमंत्री की सिफारीस पर राष्ट्रपति लोकसभा को भंग कर सकता है।
-आपातकाल के दौरान लोकसभा का कार्यकाल 1 वर्ष बढ़ाया जा सकता है।
-सन् 1976 के 42 वे सविधान संसोधन के द्वारा लोकसभा का कार्यकाल 1 वर्ष बढ़ाया (6 वर्ष कर दिया था) गया था।
-सन् 1978 के 44 वे सविधान संसोधन के द्वारा लोकसभा का कार्यकाल पुनः 5 वर्ष कर दिया गया था।

* वर्तमान लोकसभा सिटे- 545
-(1) राज्यो से निर्वाचित- 530
-(2) केन्द्रशासित प्रदेशो से निर्वाचित- 13
-(3) राष्ट्रपति द्वारा मनोनित- 2 आंगल भारतीय

* अधिकतम लोकसभा सिटे- 552
-(1) राज्यो से निर्वाचित- 530
-(2) केन्द्रशासित प्रदेशो से निर्वाचित- 20
-(3) राष्ट्रपति द्वारा मनोनित- 2 आंगल भारतीय

* अनुच्छेद 330-
-इस अनुच्छेद के अनुसार लोकसभा में सिटो का आरक्षण आवंटित किया गया है।
-लोकसभा में कुल 131 सिटे आरक्षित है जिनमें से 84 सिटे SC तथा 47 सिटे ST जातियो के लिये आरक्षित है।
-लोकसभा सिटो का बटवारा सन् 1971 की जनगणना के आधार पर किया गया है जो की सन् 2026 तक अपरिवर्तित रहेगी

* लोकसभा कि कार्यवाही/गणपुर्ती-
-लोकसभा की कार्यवाही/बैठक को शुरू करने के लिए लोकसभा की वर्तमान सिटो का 1/10 वा भाग सदस्य लोकसभा में उपस्थित होने चाहिए अन्यथा लोकसभा स्थगित कर दि जाती है।

* निर्णायक मत-
-जब लोकसभा में किसी कानुन या विषय पर बराबर मतो की स्थिति आति है तब लोकसभा अध्यक्ष अपना वोट डालता है जिसे निर्णायक मत कहते है।

* धन विधेयक-
-अनुच्छेद 110 के अनुसार धन विधेयक पर कानुन बनाने का अधिकार केवल लोकसभा का होता है।
-लोकसभा द्वारा पारित धन विधेयक राज्यसभा के पास भेजा जाता है।
-राज्यसभा को धन विधेयक 14 दिन के अन्दर लोकसभा में लोटाना होता है।
-राज्यसभा धन विधेयक को 14 दिन में नहीं लौटाती है तो धन विधेयक अपने आप ही पारित मान लिया जाता है।
-कोई धन विधेयक धन विधेयक है या नहीं इस पर अंतिम निर्णय लोकसभा अध्यक्ष करता है।

* अविश्वास प्रस्ताव-
-अविश्वास प्रस्ताव केवल लोकसभा में ही रखा जाता है तथा इसे पारित भी लोकसभा ही करती है

* विपक्ष नेता-
-लोकसभा में विपक्ष के नेता को केबिनेट मंत्री का दर्जा दिया जाता है।

* राजस्थान से अब तक कुल 2 व्यक्ति लोकसभा अध्यक्ष बन चुके है। जैसे-
-(1) बलिराम भगत- 1 बार (1976)
-(2) बलराम जाखड़- 2 बार (1980 व 1985)

* महारानी गायत्री देवी-
-यह राजस्थान से लोकसभा सदस्य बनने वाली प्रथम महिला है।
-यह कुल 3 बार लोकसभा सदस्य बनी थी

* वर्तमान लोकसभा में 2 आंगल भारतीय-
-(1) रिचर्ड हे (केरल)
-(2) जार्ज बेकर (पश्चिम बंगाल)

No comments:

Post a Comment

कृपया कमेंट में कोई भी लिंक ना डालें