लोकसभा

* अनुच्छेद 81-
-इस अनुच्छेद के अनुसार लोकसभा का गठन किया गया है।

* लोकसभा के उपनाम-
-(1) निम्न सदन
-(2) प्रथम सदन
-(3) अस्थाई सदन
-(4) जनता का सदन
-(5) लोकप्रिय सदन
-(6) मूर्खो का सभागार

-भारत में प्रथम आम चुनाव सन् 1952 में हुये थे।
-भारत में प्रथम लोकसभा का गठन 6 मई, 1952 को किया गया था।

-प्रथम लोकसभा की बैठक 13 मई, 1952 को आयोजित की गई थी।
-वर्तमान में 16 वीं लोकसभा चल रही है जिसका कार्यकाल 2014 से 2019 तक है।
-राष्ट्रपति लोकसभा को भंग/विघटित कर सकता है।
-सबसे बड़ी लोकसभा (कार्यकाल की दृष्टि से)- 5 वीं (1971-1977)
-सबसे छोटी लोकसभा (कार्यकाल की दृष्टि से)- 8 वीं (3 वर्ष)

* अध्यक्ष-
-लोक सभा अध्यक्ष को स्पिकर, चैयर पर्सन तथा सभापति भी कहते है।
-लोकसभा अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष को कोई भी शपथ नहीं दिलाता है क्योकी ये दोनो लोकसभा सदस्य के रूप में पहलें ही शपथ ले लेते है।
-लोकसभा अध्यक्ष अपना त्याग-पत्र लोकसभा उपाध्यक्ष को देता है तथा लोकसभा उपाध्यक्ष अपना त्याग-पत्र लोकसभा अध्यक्ष को देता है।
-प्रथम लोकसभा अध्यक्ष- गणेश वासुदेव मावलंकर (G.V. मावलंकर)
-प्रथम दलित लोकसभा अध्यक्ष- M.C. बालयोगी
-सबसे युवा लोकसभा अध्यक्ष- निलम संजीव रेड्डी
-लोकसभा अध्यक्ष के पद से त्याग-पत्र देने वाला प्रथम अध्यक्ष- निलम संजीव रेड्डी
-प्रथम महिला लोकसभा अध्यक्ष- मीरा कुमार (2009-2014)
-वर्तमान लोकसभा अध्यक्ष- सुमित्रा महाजन (2014 से)
-सुमित्रा महाजन-
-सुमित्रा महाजन दुसरी महिला लोकसभा अध्यक्ष है।
-सुमित्रा महाजन मुल रूप से गुजरात से है।

* उपाध्यक्ष-
-लोकसभा उपाध्यक्ष को उप-सभापति भी कहते है।
-प्रथम लोकसभा उपाध्यक्ष- अनन्तशयनम् अच्यगर
-वर्तमान लोकसभा उपाध्यक्ष- थुम्बई दुरई

* वेतन-
-लोकसभा अध्यक्ष का वेतन 1,25,000 रुपये है।
-लोकसभा सदस्यो का वेतन 50,000 रुपये है।

* लोकसभा का प्रोटेम स्पिकर-
-प्रोटेम स्पिकर को अंतिम तथा तात्कालिक अध्यक्ष भी कहते है।
-प्रोटेम स्पिकर के निर्देशन में लोकसभा की पहले दिन या पहली बैठक की कार्यवाही शुरू की जाती है।
-राष्ट्रपति वरिष्ठता के आधार पर ही लोकसभा सदस्यो में से ही प्रोटेम स्पिकर कि नियुक्ती करता है।
-प्रोटेम स्पिकर का मुख्य कार्य नवनिर्वाचित लोकसभा सदस्यो को शपथ दिलाना होता है।
-वर्तमान प्रोटेम स्पिकर- कमलनाथ

* कार्यकाल-
-लोकसभा अध्यक्ष तथा सदस्यो का सामान्य कार्यकाल 5 वर्ष होता है परन्तु 5 वर्ष से पूर्व भी प्रधानमंत्री की सिफारीस पर राष्ट्रपति लोकसभा को भंग कर सकता है।
-आपातकाल के दौरान लोकसभा का कार्यकाल 1 वर्ष बढ़ाया जा सकता है।
-सन् 1976 के 42 वे सविधान संसोधन के द्वारा लोकसभा का कार्यकाल 1 वर्ष बढ़ाया (6 वर्ष कर दिया था) गया था।
-सन् 1978 के 44 वे सविधान संसोधन के द्वारा लोकसभा का कार्यकाल पुनः 5 वर्ष कर दिया गया था।

* वर्तमान लोकसभा सिटे- 545
-(1) राज्यो से निर्वाचित- 530
-(2) केन्द्रशासित प्रदेशो से निर्वाचित- 13
-(3) राष्ट्रपति द्वारा मनोनित- 2 आंगल भारतीय

* अधिकतम लोकसभा सिटे- 552
-(1) राज्यो से निर्वाचित- 530
-(2) केन्द्रशासित प्रदेशो से निर्वाचित- 20
-(3) राष्ट्रपति द्वारा मनोनित- 2 आंगल भारतीय

* अनुच्छेद 330-
-इस अनुच्छेद के अनुसार लोकसभा में सिटो का आरक्षण आवंटित किया गया है।
-लोकसभा में कुल 131 सिटे आरक्षित है जिनमें से 84 सिटे SC तथा 47 सिटे ST जातियो के लिये आरक्षित है।
-लोकसभा सिटो का बटवारा सन् 1971 की जनगणना के आधार पर किया गया है जो की सन् 2026 तक अपरिवर्तित रहेगी

* लोकसभा कि कार्यवाही/गणपुर्ती-
-लोकसभा की कार्यवाही/बैठक को शुरू करने के लिए लोकसभा की वर्तमान सिटो का 1/10 वा भाग सदस्य लोकसभा में उपस्थित होने चाहिए अन्यथा लोकसभा स्थगित कर दि जाती है।

* निर्णायक मत-
-जब लोकसभा में किसी कानुन या विषय पर बराबर मतो की स्थिति आति है तब लोकसभा अध्यक्ष अपना वोट डालता है जिसे निर्णायक मत कहते है।

* धन विधेयक-
-अनुच्छेद 110 के अनुसार धन विधेयक पर कानुन बनाने का अधिकार केवल लोकसभा का होता है।
-लोकसभा द्वारा पारित धन विधेयक राज्यसभा के पास भेजा जाता है।
-राज्यसभा को धन विधेयक 14 दिन के अन्दर लोकसभा में लोटाना होता है।
-राज्यसभा धन विधेयक को 14 दिन में नहीं लौटाती है तो धन विधेयक अपने आप ही पारित मान लिया जाता है।
-कोई धन विधेयक धन विधेयक है या नहीं इस पर अंतिम निर्णय लोकसभा अध्यक्ष करता है।

* अविश्वास प्रस्ताव-
-अविश्वास प्रस्ताव केवल लोकसभा में ही रखा जाता है तथा इसे पारित भी लोकसभा ही करती है

* विपक्ष नेता-
-लोकसभा में विपक्ष के नेता को केबिनेट मंत्री का दर्जा दिया जाता है।

* राजस्थान से अब तक कुल 2 व्यक्ति लोकसभा अध्यक्ष बन चुके है। जैसे-
-(1) बलिराम भगत- 1 बार (1976)
-(2) बलराम जाखड़- 2 बार (1980 व 1985)

* महारानी गायत्री देवी-
-यह राजस्थान से लोकसभा सदस्य बनने वाली प्रथम महिला है।
-यह कुल 3 बार लोकसभा सदस्य बनी थी

* वर्तमान लोकसभा में 2 आंगल भारतीय-
-(1) रिचर्ड हे (केरल)
-(2) जार्ज बेकर (पश्चिम बंगाल)

No comments:

Post a comment

पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें और अपना कीमती सुझाव देने के लिए यहां कमेंट करें, पोस्ट से संबंधित आपका किसी भी प्रकार का सवाल जवाब हो तो कमेंट में पूछ सकते है।