राजस्थान के भौतिक प्रदेश

👉 राजस्थान के भौतिक प्रदेश या भौगोलिक प्रदेश-

👉 प्रो. वी.सी. मिश्रा-
✍ राजस्थान के भौतिक प्रदेशों का सर्वप्रथम निर्धारण सन् 1968 में प्रो. वी.सी. मिश्रा ने किया था।
✍ प्रो. वी.सी. मिश्रा ने अपनी स्वयं कि पुस्तक "राजस्थान का भूगोल" में राजस्थान को धरातलीय एवं जलवायु की दृष्टि से 4 भागो में बाटा है। जैसे-

👉 चारों भौतिक/ भौगोलिक प्रदेशों का निर्माण क्रम-
1. अरावली पर्वतमाला
2. दक्षिणी पूर्वी पठार
3. पूर्वी मैदान
4. थार का मरुस्थल



👉 अरावली पर्वतमाला-
✍ राजस्थान के इन चारो भौतिक प्रदेशों में से सर्वप्रथम अरावली पर्वतमाला का निर्माण हुआ था।

👉 थार का मरुस्थल-
✍ राजस्थान के इन चारो भौतिक प्रदेशों में से सबसे अन्त में थार के मरुस्थल का निर्माण हुआ था।

👉 अंगारा लैंड-
✍ राजस्थान तथा भारत में अंगारा लैंड के कोई भी अवशेष नहीं पाये जाते है।

👉 वेगनर सिद्धांत-
✍ वेगनर सिद्धांत को महाद्वीपीय विस्थापन सिद्धांत भी कहा जाता है।
✍ जर्मनी के प्रसिद्ध भू-वैज्ञानिक अल्फ्रेड वेगनर ने महाद्वीपो की उत्पती से संबंधित एक सिद्धांत दिया था जिस वेगनर सिद्धांत कहा जाता है।
✍ वेगनर सिद्धांत के अनुसार विश्व के सातो महाद्वीपो की उत्पती बतायी गई थी।

राजस्थान के भौतिक प्रदेश-


No comments:

Post a Comment

कृपया कमेंट में कोई भी लिंक ना डालें