काँच उद्योग तथा लाख उद्योग (राजस्थान के प्रमुख उद्योग)

👉 काँच उद्योग (राजस्थान के प्रमुख उद्योग)-

👉 काँच-
✍ काँच एक प्रकार की तरल धातु होती है।

👉 काँच का निर्माण-
✍ काँच के निर्माण में बालू मिट्टी, सिलिका, सोडियम सल्फेट, शीरा व कोयला के द्वारा ही काँच का निर्माण होता है।

👉 धौलपुर (राजस्थान)-
✍ राजस्थान के धौलपुर जिले में सर्वाधिक काँच की बालुका रेत पायी जाती है।

👉 राजस्थान में काँच उद्योग-
✍ राजस्थान में वर्तमान में कुल चार काँच उद्योग स्थित है जैसे-
 अलवर- 1 काँच उद्योग
 कोटा- 1 काँच उद्योग
✍ धौलपुर- 2 काँच उद्योग
✍ कुल- 4 काँच उद्योग

👉 राजस्थान में स्थित काँच की फैक्ट्री-

1. सेंट गोबेन ग्लास वर्क्स-
✍ स्थित- भिवाड़ी, अलवर (राजस्थान)
✍ विशेषता-
✍ यह मूल रूप से फ्रांस की कंपनी है।

2. सेमकोर ग्लास वर्क्स-
✍ स्थित- कोटा (राजस्थान)
✍ विशेषता-
✍ यह कारखाना दक्षिणी कोरिया की सैमसंग कंपनी के लिए टेलीविजन की पिक्चर ट्यूब का निर्माण करता है।

3. धौलपुर ग्लास वर्क्स-
✍ स्थित- धौलपुर (राजस्थान)
✍ विशेषता-
✍ यह काँच कंपनी राजस्थान में निजी क्षेत्र की कंपनी है।

4. हाइटैक प्रिसिजन ग्लास फैक्ट्री-
✍ स्थित- धौलपुर (राजस्थान)
✍ विशेषता-
✍ यह काँच फैक्ट्री दी गंगानगर शुगर मिल्स के लिए शराब की बोतले बनाती है।
✍ यह राजस्थान सरकार का उपक्रम है।

👉 लाख उद्योग (राजस्थान के प्रमुख उद्योग)-
✍ राजस्थान में लाख उद्योग जयपुर तथा जोधपुर जिले में स्थित है।

👉 मोकड़ी-
✍ लाख की बनी चूड़ियों को मोचड़ी कहते है।

👉 मोचड़ी (बिनोटा)-
✍ राजस्थान में दूल्हे या दूल्हन की जूतियों को कहते है।

No comments:

Post a Comment

कृपया कमेंट में कोई भी लिंक ना डालें