ग्रीष्म ऋतु (राजस्थान की जलवायु)

👉 राजस्थान में ग्रीष्म ऋतु (राजस्थान की जलवायु)-




👉 ग्रीष्म ऋतु-
✍ ग्रीष्म ऋतु का समय- मार्च से मध्य जून तक
✍ ग्रीष्म ऋतु में तापमान- 45 से 50 के मध्य
✍ ग्रीष्म ऋतु में औसत तापमान- 38

👉 लू-
✍ ग्रीष्म ऋतु के दौरान  उत्तरी-पश्चिमी राजस्थान में अत्यधित गर्म तथा शुष्क पवने चलती है जिन्हे लू कहते है।
✍ लू सापेक्षित आद्रता की कमी के कारण चलती है।

👉 आंधियां-
✍ ग्रीष्म ऋतु के दौरान राजस्थान में सर्वाधिक आंधियां श्री गंगानगर जिले में चलती है।
✍ ग्रीष्म ऋतु के दौरान राजस्थान में सबसे कम आंधियां झालावाड़ जिले में चलती है।

👉 भू-गल्या या भम्भोलिया-
✍ ग्रीष्म ऋतु के दौरान राजस्थान में छोटे-छोटे क्षेत्रों में उत्पन होने वाले छोटे-छोटे वायु चक्रवातों (भवर) को भू-गल्या या भम्भोलिया कहा जाता है।
✍ भू-गल्या या भम्भोलिया का बाहर का वायुदाब अधिक होता है तथा अन्दर का वायुदाब कम होता है।

👉 तवा-
✍ पश्चिमी राजस्थान में ज्येष्ठ के महीने में चलने वाली गर्म हवाओं या पवनों को तवा कहते है।

👉 जून का महीना-
✍ राजस्थान में ग्रीष्म ऋतु के दौरान अत्यधिक गर्मी जून के महीने में पड़ती है।
✍ दौपहर के 12 बजे से 3 बजे के बीच अत्यधिक गर्मी पड़ती है।

👉 चूरू (राजस्थान)-
✍ ग्रीष्म ऋतु के दौरान राजस्थान में सर्वाधिक गर्मी चूरू जिले में पड़ती है।

👉 बीकानेर (राजस्थान)-
✍ राजस्थान में सबसे गर्म व सबसे ठंडा जिला बीकानेर था वर्तमान में सबसे गर्म तथा सबसे ठंडा जिला चूरू है।

👉 फलौदी, जोधपुर (राजस्थान)-
✍ राजस्थान में सबसे शुष्क तथा सबसे गर्म स्थान जोधपुर का फलौदी है।

👉 जैसलमेर (राजस्थान)-
✍ ग्रीष्म ऋतु के दौरान सर्वाधिक दैनिक तापमान जैसलमेर जिले का होता है।

No comments:

Post a Comment

कृपया कमेंट में कोई भी लिंक ना डालें