लौह इस्पात उद्योग (भारत के प्रमुख उद्योग)

भारत में लौह इस्पात उद्योग 
👉चीन-
➯विश्व में लौह उत्पादन में प्रथम स्थान चीन का है।

👉भारत-
➯विश्व में लौह उत्पादन में भारत का चौथा स्थान है।

👉हेमेटाइट व मैग्नेटाइट-
➯हेमेटाइट व मैग्नेटाइट दोनों ही लौहे के अयस्क (कच्चा रूप) है।

👉बंगाल आयरन एण्ड वर्क्स कम्पनी-
➯बंगाल आयरन एण्ड वर्क्स कम्पनी भारत का पहला लौह इस्पात कारखाना है।
➯इस कारखाने की स्थापना सन् 1870 में पश्चिम बंगाल की कुल्टी नामक जगह पर कि गई थी।
➯बंगाल आयरन एण्ड वर्क्स कम्पनी में कार्य सन् 1908 में शुरू किया गया था।

👉टिस्को-
➯टिस्को लौह इस्पात कारखाना है।
➯टिस्को का पूरा नाम टाटा आयरन एण्ड स्टील कम्पनी लिमिटेड है।
➯टिस्को की स्थापना सन् 1907 में जमशेदजी टाटा के द्वारा स्वर्ण रेखा नदी के पास छत्तीसगढ़ की साकची नामक जगह पर की गई थी।
➯टिस्को भारत में निजी क्षेत्र का पहला तथा सबसे बड़ा कारखाना है।

👉मैसूर आयरन एण्ड स्टील वर्क्स-
➯मैसूर आयरन एण्ड स्टील वर्क्स/ कारखाने की स्थापना सन् 1923 में मैसूर राज्य (वर्तमान कर्नाटक) के भद्रावती नामक स्थान पर की गई थी।
➯इस कारखाने का सन् 1976 में नाम बदलकर विश्वेश्वरैया आयरन एण्ड स्टील कम्पनी लिमिटेड (VISCL) कर दिया गया था।

👉सेल (SAIL)-
➯सेल का पूरा नाम स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया (Steel Authority of India) है।
➯सेल की स्थापना सन् 1974 में की गई थी।
➯सेल भारत की सबसे बड़ी इस्पात कम्पनी है।
➯सेल के द्वारा निम्नलिखित कारखानों का संचालन किया जाता है।
1. राउलकेला इस्पात संयंत्र
2. भिलाई इस्पात संयंत्र
3. दुर्गापुर इस्पात संयंत्र
4. बोकारो इस्पात संयंत्र
5. सेलम इस्पात संंयंत्र

1. राउलकेला इस्पात संयंत्र-
➯राउलकेला इस्पात संयंत्र की स्थापना सन् 1954 में ब्राह्मणी नदी के पास ओडिशा की सुंदरगढ़ नामक जगह पर की गई थी।
➯राउलकेला इस्पात संयंत्र की स्थापना जर्मनी के सहयोग से की गई थी।

2. भिलाई इस्पात संयंत्र-
➯भिलाई इस्पात संयंत्र की स्थापना सन् 1955 में महानदी के पास छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में की गई थी।
➯भिलाई इस्पात संयंत्र की स्थापना रूस के सहयोग से की गई थी।

3. दुर्गापुर इस्पात संयंत्र-
➯दुर्गापुर इस्पात संयंत्र की स्थापना सन् 1956 में दामोदर नदी के पास पश्चिम बंगाल की दुर्गापुर नामक जगह पर कि गई थी।
➯दुर्गापुर इस्पात संयंत्र की स्थापना ब्रिटेन के सहयोग से की गई थी।

4. बोकारो इस्पात संयंत्र-
➯बोकारो इस्पात संयंत्र की स्थापना सन् 1968 से लेकर 1974 तक हुई थी।
➯बोकारो इस्पात संयंत्र की स्थापना दामोदर नदी के पास झारखंड की बोकारो नामक जगह पर रूस के सहयोग से की गई थी।
➯बोकारो इस्पात संयंत्र एशिया का सबसे बड़ा इस्पात संयंत्र/कारखाना है।

5. सेलम इस्पात संयंत्र-
➯सेलम इस्पात संयंत्र की स्थापना तमिलनाडु की सेलम नामक जगह पर जापान के सहयोग से की गई थी।

No comments:

Post a Comment

कृपया कमेंट में कोई भी लिंक ना डालें