मुद्रा बैंक

मुद्रा बैंक (Mudra Bank)


मुद्रा बैंक (Mudra Bank)-

Mudra Bank का पूरा नाम- माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी

Mudra Bank का पूरा नाम- Micro Units Development and Refinance Agency


मुद्रा बैंक (Mudra Bank) की स्थापना-

➠भारत में मुद्रा बैंक की स्थापना सन् 2015 में की गई थी।

➠भारत में मुद्रा बैंक की स्थापना प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (Pradhan Mantri Mudra Yojana- PMMY) के तहत की गई थी।


मुद्रा बैंक (Mudra Bank) का उद्देश्य-

➠मुद्रा बैंक का उद्देश्य सूक्ष्म इकाइयों को ऋण सुविधा उपलब्ध करवाना है। जैसे- फुटकर विक्रेता


मुद्रा बैंक (Mudra Bank)-

➠मुद्रा बैंक एक पुनर्वित्त संस्था है।

➠मुद्रा बैंक कृषि क्षेत्र में ऋण उपलब्ध नहीं करवाता है।

➠मुद्रा बैंक भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (Small Industries Development Bank of India- SIDBI) के अधिन कार्य करता है।

➠भारती लघु उद्योग विकास बैंक (Small Industries Development Bank of India- SIDBI) का मुख्यालय लखनव (उत्तर प्रदेश) में स्थित है।


मुद्रा बैंक के अधिन तीन प्रकार के ऋण (Loan) दिए जाते है जैसे-

1. शिशु ऋण (Shishu Loan)

2. किशोर ऋण (Kishore Loan)

3. तरुण ऋण (Tarun Loan)


1. शिशू ऋण (Shishu Loan)-

➠मुद्रा बैंक के द्वारा शिशू ऋण में 50,000 रुपये तक का ऋण दिया जाता है।


2. किशोर ऋण (Kishore Loan)-

➠मुद्रा बैंक के द्वारा तरुण ऋण में 50,000 से 5 लाख रुपये तक का ऋण दिया जाता है।


3. तरुण ऋण (Tarun Loan)-

➠मुद्रा बैंक के द्वारा किशोर ऋण में 5 लाख से 10 लाख रुपये तक का ऋण दिया जाता है।


No comments:

Post a Comment

पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें और अपना कीमती सुझाव देने के लिए यहां कमेंट करें, पोस्ट से संबंधित आपका किसी भी प्रकार का सवाल जवाब हो तो कमेंट में पूछ सकते है।