राजस्थान का इतिहास एक परिचय

कर्नल जेम्स टाॅड-
➠कर्नल जेम्स टाॅड स्काॅटलैंड का रहने वाला था।
➠कर्नल जेम्स टाॅड राजस्थान में अग्रेजों का पोलिटिकल एजेन्ट बनकर आया था।
➠कर्नल जेम्स टाॅड के गुरु का नाम यति ज्ञानचंद्र था जो की एक जैन मुनि थे।
➠कर्नल जेम्स टाॅड को राजस्थान के इतिहास का जनक या पिता कहा जाता है।
➠कर्नल जेम्स टाॅड ने राजस्थान के लिए सर्वप्रथम "रायथान" शब्द का प्रयोग किया था।

कर्नल जेम्स टाॅड की पुस्तके-
1. Annals and Antiquities of Rajasthan (एनल्स एंड एंटीक्विटीज ऑफ राजस्थान)
 or (या) 
The Central and Western Rajput States of India (सेंट्रल एंड वेस्टर्न राजपूत स्टेट्स ऑफ इंडिया)
2. Travels in Western India (ट्रेवल्स इन वेस्टर्न इण्डिया)

जाॅर्ज थाॅमस-
➠जाॅर्ज थाॅमस आयरलैंड का रहने वाला था।
➠जाॅर्ज थाॅमस मराठाओं का भाडायती सेनापति (किराये का सेनापति) था।
➠1800 ई. में जाॅर्ज थाॅमस ने जयपुर, उदयपुर तथा बीकानेर पर आक्रमण किये थे।
➠राजस्थान के लिए "राजपूताना" शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग जाॅर्ज थाॅमस ने किया था।

जाॅर्ज थाॅमस की पुस्तक-
1. Military Memoirs of Mr. George Thomas (मिलिट्री मेमोरीज ऑफ मिस्टर जाॅर्ज थाॅमस)



No comments:

Post a Comment

पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें और अपना कीमती सुझाव देने के लिए यहां कमेंट करें, पोस्ट से संबंधित आपका किसी भी प्रकार का सवाल जवाब हो तो कमेंट में पूछ सकते है।