Ads Area

अरावली पर्वतमाला (Aravalli Range)

अरावली पर्वतमाला (Aravalli Mountain/Range)-

  • क्षेत्रफल (Area)- 9%
  • जनसंख्या (Population)- 10%
  • जिले (District)- 13 जिले (मुख्यतः 7 जिले)- मुख्यतः 7 जिलों में विस्तार
  • मिट्टी (Soil)- पर्वतीय या वनीय मिट्टी (Mountain/ Forest Soil)
  • जलवायु (Climate)- उपार्द्र (Subhumid)
  • निर्माणकाल के आधार पर अरावली एक प्राचीनतम (Oldest) पर्वतमाला है।
  • निर्माण प्रक्रिया के आधार पर अरावली एक वलित (Folded) पर्वतमाला है।
  • वर्तमान स्थिति के आधार पर अरावली एक अवशिष्ट (Residual) पर्वतमाला है।
  • निर्माण काल (Formation Period)- अरावली का निर्माण काल प्री. केम्ब्रियन काल (Pre Cambrian Age) है।
  • विस्तार (Extension)-
  • (I) लम्बाई (Length)-
  • (A) भारत में गुजरात से लेकर दिल्ली तक अरावली की कुल लम्बाई 692 किलोमीटर है।
  • (B) राजस्थान में सिरोही से लेकर झुंझुनूं तक अरावली की कुल लम्बाई 550 किलोमीटर है।
  • (C) भारत में स्थित अरावली का लगभग 80% भाग राजस्थान में स्थित है।
  • (II) औसत ऊँचाई (Average Height)-
  • (A) वर्तमान में अरावली की औसत ऊँचाई 930 मीटर है।
  • (B) निर्माण के समय अरावली की औसत ऊँचाई 2700 मीटर थी।

  • सर्वोच्च चोटी (Highest Peak)- अरावली की सर्वोच्च चोटी गुरु शिखर है।
  • राजस्थान में अरावली की सर्वाधिक ऊँचाई सिरोही जिले में है।
  • राजस्थान में अरावली की न्यूनतम ऊँचाई अजमेर जिले में है।
  • राजस्थान में अरावली का सर्वाधिक विस्तार उदयपुर जिले में है।
  • राजस्थान में अरावली की न्यूनतम विस्तार अजमेर जिले में है।


अरावली की दिशा (Direction of Aravalli)-

  • अरावली की दिशा दक्षिण-पश्चिम (South-West) से उत्तर-पूर्व (North-East) की ओर है।
  • अरावली की घटती हुई चौड़ाई की दिशा दक्षिण-पश्चिम (South-West) से उत्तर-पूर्व (North-East) की ओर है।
  • अरावली की बढ़ती हुई चौड़ाई की दिशा उत्तर-पूर्व (North-East) से दक्षिण-पश्चिम (South-West) की ओर है।
  • अरावली की दिशा नेऋत्य (Nairitya) से ईशान (Ishan) की ओर है।
  • नेऋत्य (Nairitya) = दक्षिण-पश्चिम दिशा
  • ईशान (Ishan) = उत्तर-पूर्व दिशा


भारत की सबसे ऊँची चोटी (Highest Peak of India)-

  • वर्तमान में भारत की सबसे ऊंची चोटी कंचनजंघा है।
  • वर्तमान में उत्तर भारत की सबसे ऊंची चोटी कंचनजंघा है।
  • कंचनजंघा चोटी सिक्किम राज्य में स्थित है।
  • कंचनजंघा चोटी की कुल ऊँचाई 8,586 मीटर है।
  • वर्तमान में दक्षिण भारत की सबसे ऊंची चोटी अनाईमुडी या अनामुडी है।
  • अनाईमुडी चोटी केरल राज्य में स्थित है।
  • अनाईमुडी चोटी की कुल ऊँचाई 2695 मीटर है।
  • वर्तमान में मध्य भारत की सबसे ऊंची चोटी गुरु शिखर है।
  • गुरु शिखर चोटी राजस्थान राज्य के सिरोही जिले में स्थित है।
  • गुरु शिखर चोटी की कुल ऊँचाई 1722 मीटर है।


भारत में अरावली का विस्तार (Extension of Aravalli in India)-

  • भारत में अरावली का विस्तार खेडब्रह्मा (गुजरात) से लेकर रायसीना पहाड़ियां (दिल्ली) तक है।
  • भारत में अरावली की शुरुआत खेडब्रह्मा (गुजरात) से होती है। या गुजरात में अरावली की शुरुआत पालनपुर या गिरनार पहाड़ियों से भी मानी जाती है। (प्राथमिकता खेडब्रह्मा)
  • भारत में अरावली का अंतिम स्थान रायसीना पहाड़ियां (दिल्ली) है।
  • भारत में अरावली की सर्वाधिक चौड़ाई गुजरात में है।
  • भारत में अरावली की सबसे कम चौड़ाई दिल्ली में है।


राजस्थान में अरावली का विस्तार (Extension of Aravalli in Rajasthan)-

  • राजस्थान में अरावली का विस्तार आबू (सिरोही) से लेकर खेतड़ी (झुंझुनूं) तक है।
  • राजस्थान में अरावली की शुरुआत आबू (सिरोही) में होती है।
  • राजस्थान में अरावली का अंतिम स्थान खेतड़ी (झुंझुनूं) है।
  • राजस्थान में अरावली की सर्वाधिक चौड़ाई सिरोही जिले में है।
  • राजस्थान में सबसे कम चौड़ाई झुंझुनूं जिले में है।


अरावली का अध्ययन (Study of Aravalli)-

  • अध्ययन की दृष्टि से राजस्थान में अरावली पर्वतमाला को तीन भागों में बांटा गया है। जैसे-
  • 1. उत्तरी अरावली (North Aravalli)
  • 2. मध्य अरावली (Mid Aravalli)
  • 3. दक्षिणी अरावली (Southern Aravalli)


1. उत्तरी अरावली (North Aravalli)-

  • राजस्थान के झुंझुनूं व जयपुर के मध्य स्थित अरावली को उत्तरी अरावली कहा जाता है।
  • उत्तरी अरावली की सर्वोच्च चोटी 'रघुनाथगढ़' (Raghunathgarh) है।
  • उत्तरी अरावली की रघुनाथगढ़ चोटी सीकर जिले में स्थित है।
  • रघुनाथगढ़ चोटी की कुल ऊँचाई 1055 मीटर है।


2. मध्य अरावली (Mid Aravalli)-

  • राजस्थान में जयपुर व राजसमंद के मध्य स्थित अरावली को मध्य अरावली कहा जाता है।
  • अथवा
  • अजमेर में स्थित अरावली को मध्य अरावली कहा जाता है क्योंकि मध्य अरावली का मुख्यतः विस्तार अजमेर जिले में है।
  • मध्य अरावली की सर्वोच्च चोटी क्रमशः-
  • (I) टॉडगढ़ चोटी (अजमेर)- 934 मीटर
  • (II) तारागढ़ चोटी (अजमेर)- 873 मीटर
  • (III) नाग चोटी (अजमेर)- 795 मीटर
  • टॉडगढ़ चोटी की कुल ऊँचाई 934 मीटर है।
  • तारागढ़ चोटी की कुल ऊँचाई 873 मीटर है।
  • नाग चोटी की कुल ऊँचाई 795 मीटर है।


3. दक्षिणी अरावली (Southern Aravalli)-

  • राजस्थान में राजसमंद व सिरोही के मध्य स्थित अरावली को दक्षिणी अरावली कहा जाता है।
  • दक्षिणी अरावली की सर्वोच्च चोटी गुरु शिखर है।
  • गुरु शिखर चोटी सिरोही जिले में स्थित है।
  • गुरु शिखर चोटी की कुल ऊँचाई 1722 मीटर है।


दक्षिणी अरावली का अध्ययन (Study of Southern Aravalli)-

  • अध्ययन की दृष्टि से दक्षिणी अरावली को पुनः दो भागों में बांटा जाता है। जैसे-
  • (I) आबू अरावली (Abu Aravalli)
  • (II) मेवाड़ी अरावली (Mewar Aravalli)


(I) आबू अरावली (Abu Aravalli)-

  • आबू अरावली का विस्तार-
  • (A) सिरोही (सर्वाधिक)
  • (B) पाली
  • आबू अरावली की सर्वोच्च चोटी गुरु शिखर है।
  • गुरु शिखर चोटी की कुल ऊँचाई 1722 मीटर है।
  • गुरु शिखर चोटी आबू (सिरोही) में स्थित है।


(II) मेवाड़ी अरावली (Mewar Aravalli)-

  • मेवाड़ी अरावली का विस्तार-
  • (A) उदयपुर (सर्वाधिक)
  • (B) राजसमंद 
  • मेवाड़ी अरावली की सर्वोच्च चोटी जरगा है।

  • जरगा चोटी की कुल ऊँचाई 1431 मीटर है।

  • जरगा चोटी उदयपुर में स्थित है।


👉अरावली के प्रमुख पठारों की अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।


👉अरावली के प्रमुख दर्रे या नाल की अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।


अरावली की प्रमुख चट्टानें (Main Rocks of Aravalli)-

  • राजस्थान एवं अरावली की भू-आकृतिक संरचना (Geomorphic) का अध्ययन ए.एम. हैरोन (A.M. Heron) के द्वारा किया गया है।
  • ए.एम. हैरोन के अनुसार अरावली का निर्माण देहली महासमूह (Delhi Supergroup) की चट्टानों से हुआ है।
  • देहली महासमूह की प्रमुख चट्टानें निम्न है।-
  • (I) अजबगढ़ समूह (Ajabgarh Group)- दिल्ली से अलवर तक उत्तरी अरावली
  • (II) अलवर समूह (Alwar Group)- अलवर से अजमेर तक मध्य अरावली
  • (III) रायलो समूह (Rylo Group)- अजमेर से गुजरात तक दक्षिणी अरावली


अरावली का महत्व (Importance of Aravalli)-

  • 1. मरुस्थलीकरण (Desertification)
  • 2. जैव विविधता (Biodiversity)
  • 3. अपवाह तंत्र या नदियां (Drainage System/ River)
  • 4. जनजातियां (Tribes)
  • 5. खनिज (Minerals)
  • 6. पर्यटन (Tourism)
  • 7. सभ्यता (Civilization)
  • 8. झील (Lake)
  • 9. जल विभाजक रेखा (Water Divide Line)
  • 10. योजना प्रदेश (Planning Region)


    1. मरुस्थलीकरण (Desertification)-

    • अरावली मरुस्थलीकरण को रोकती है या सीमित करती है।


    2. जैव विविधता (Biodiversity)-

    • राजस्थान में सर्वाधिक जैव विविधता अरावली में पायी जाती है क्योंकि अरावली में वनस्पति (Vegetation) अधिक पायी जाती है।


    3. अपवाह तंत्र या नदियां (Drainage System/ River)-

    • राजस्थान की अधिकांश नदियों का उद्गम अरावली से होता है।


    4. जनजातियां (Tribes)-

    • राजस्थान में अरावली को जनजातियों की शरणस्थली कहा जाता है।
    • अरावली में पायी जाने वाली प्रमुख जनजातियां-
    • (I) मीणा जनजाति (Meena Tribe)
    • (II) भील (Bhil Tribe)
    • (III) गरासिया (Garasia Tribe)


    5. खनिज (Minerals)-

    • अरावली में धात्विक खनिज (Metallic Minerals) अधिक पाये जाते हैं क्योंकि अरावली का निर्माण धारवाड़ क्रम की चट्टानों या धारवाड़ चट्टानों (Dharwar Rocks) से हुआ है।


    6. पर्यटन (Tourism)-

    • माउण्ट आबू राजस्थान का एकमात्र हिल्स स्टेशन (Hill Station) जो पर्यटकों को आकर्षित करता है।

    • माउण्ट आबू हिल्स स्टेशन अरावली में स्थित है।


    7. सभ्यता (Civilization)-

    • अरावली पर्वतमाला को प्राचीन सभ्यताओं एवं नवीन नगरीय सभ्यताओं की जन्म भूमि कहा जाता है।
    • प्राचीन सभ्यताएं (Ancient Civilization)-
    • (I) आहड़ (Ahar Civilization)
    • (II) बैराठ (Bairath Civilization)
    • (III) गणेश्वर (Ganeshwar Civilization)
    • नवीन नगरीय सभ्यताएं (Modern Urban Civilization)-
    • (I) जयपुर (Jaipur)
    • (II) अजमेर (Ajmer)
    • (III) उदयपुर (Udaipur)


    8. झील (Lake)-

    • अरावली में मीठे पानी की झीलें सर्वाधिक पायी जाती है जो पर्यटन को आकर्षित करती है। जैसे-
    • (I) पिछोला झील (Pichola Lake)- उदयपुर
    • (II) फतेहसागर झील (Fateh Sagar Lake)- उदयपुर
    • (III) जयसमंद झील (Jaismand Lake)- उदयपुर
    • (IV) पुष्कर झील (Pushkar Lake)- अजमेर
    • (V) आना सागर झील (Anasagar Lake)- अजमेर
    • (VI) मान सागर झील (Man Sagar Lake)- जयपुर


    9. जल विभाजक रेखा (Water Divide Line)-

    • राजस्थान में अरावली को जल विभाजक रेखा कहा जाता है क्योंकि अरावली राजस्थान के अपवाह तंत्र को दो भागों में बांटती है। जैसे-
    • (I) बंगाल की खाड़ी में गिरनी वाली नदियां (पूर्व)
    • (II) अरब सागर में गिरनी वाली नदियां (पश्चिम)
    • विशेष- राजस्थान में भोराट का पठार भी जल विभाजक का कार्य करता है।


    10. योजना प्रदेश (Planning Region)-

    • राजस्थान में अरावली पर्वतमाला को योजना प्रदेश कहा जाता है क्योंकि राजस्थान सरकार की अधिकांश योजनाएं अरावली से संबंधित होती है। जैसे-
    • (I) आदिवासी विकास (Tribal Development)
    • (II) खनिज उत्पादन (Mineral Production)
    • (III) जैव विविधता संरक्षण (Biodiversity Conservation)
    • (IV) पर्यटन (Tourism)


    अरावली से संबंधित अन्य महत्वपूर्ण तथ्य (Other Important Facts Related Aravalli)-

        • (B) पीडमांट (Peidmont)


            (B) पीडमांट (Peidmont)-

            • Peid = पाद (Foot)
            • Mont = पर्वत (Mountain)
            • पर्वत पदीय क्षेत्रों को पीडमांट कहते हैं। अर्थात् पर्वतों के तलहटी वाले क्षेत्र या आधार क्षेत्र को पीडमांट कहते हैं। जैसे-
            • (I) देवगढ़ (Devgarh)- राजसमंद


            महत्वपूर्ण लिंक (Important Link)-

            Post a Comment

            0 Comments

            Top Post Ad

            Below Post Ad

            Latest Post Down Ads