राजस्थान की कला एवं संस्कृति के महत्वपूर्ण प्रश्न ( 301-350 )

प्रश्न 301. खण्डेलवालो की कुल देवी है- सकराय माता
प्रश्न 302. शारदा माता का मंदिर है- पिलानी ( झुन्झुनू )
प्रश्न 303. सोमनाथ मंदिर स्थित है- पाली
विशेष- भारत मे सोमनाथ का मंदिर गुजरात मे स्थित है जो भगवान शिव को समर्पित है इसी मंदिर पर महमूद गजनवी ने 1025 ई. मे आक्रमण किया था
प्रश्न 304. देव सोमनाथ का मंदिर स्थित है- डूंगरपुर
प्रश्न 305. केसरियानाथ जी का मंदिर स्थित है- धूलेव/ऋषभदेव ( उदयपुर )

प्रश्न 306. सिरवी समाज की कुल देवी है- आईमाता ( बिलाड़ा, जौधपुर )

प्रश्न 307. पुष्करणा ब्राह्मणो की कुल देवी है- लटियाल माता ( फलौदी, जौधपुर )
प्रश्न 308. ओसवालो की कुल देवी है- सच्चियाय माता ( ओसिया, जौधपुर )
प्रश्न 309. कर्नल जेम्स टोड ने ताजमहल के बाद दुसरा प्रमुख भवन बताया है- दिलवाड़ा/देलवाड़ा ( माउण्ट आबू ) के विमलशाही मंदिर को बताया है
प्रश्न 310. विभीषण का मंदिर स्थित है- कैथून ( कोटा )

प्रश्न 311. खण्डित शिवलिंग की पूजा की जाती हैबेणेश्वर

 महादेव मंदिर ( डूंगरपुर )
प्रश्न 312. ब्रह्म खड्ड हैअचलेश्वर महादेव मंदिर ( माउण्ट आबू )
प्रश्न 313. जैसलमेर के भाटियो की कुल देवी है- स्वागिया माता
प्रश्न 314. मेवाड़ राजघराने की कुल देवी है- बाण माता
प्रश्न 315. राणा प्रताप ने चावण्ड मे किस माता का मंदिर बनवाया था- चामुण्डा माता

प्रश्न 316. कच्छवाहो की कुल देवी है- जमवाय माता ( अन्नापूर्णा माता )

प्रश्न 317. चौहानो की कुल देवी है- आशापुरा माता ( नाडोल, पाली )
प्रश्न 318. दधिमति माता का मंदिर स्थित है- गोठ मांगलोद ( नागौर )
प्रश्न 319. दाधिच किनकी कुल देवी है- ब्राह्मणो की
प्रश्न 320. सास-बहू का मंदिर स्थित है- नागदा ( उदयपुर )
विशेष- इस मंदिर का मुल नाम सहस्रबाहु था

प्रश्न 321. सरिस्का अभ्यारणय मे स्थित मंदिर है- पाण्डुपोल हनुमान जी का मंदिर, ताल वृक्ष मंदिर, भृर्तहरि का मंदिर, नीलकण्ठ महादेव मंदिर

प्रश्न 322. शिवजी के अंगुठे की पूजा की जाती हैअचलेश्वर महादेव मंदिर ( माउण्ट आबू )
प्रश्न 323. जयपुर का काशी कहा जाता है- गलता जी
प्रश्न 324. इकमीनार मस्जिद स्थित है- जौधपुर
प्रश्न 325. मीठेशाह की दरगाह स्थित है- गागरोण ( झालावाड़ )

प्रश्न 326. पीर दुल्लेशाह की दरगाह स्थित है- करेला ( पाली )

प्रश्न 327. शक्कर पीर बाबा की दरगाह स्थित है- नरहड़, चिड़ावा ( झुन्झुनू )
प्रश्न 328. नालीसर मस्जिद स्थित है- सांभर ( जयपुर )
प्रश्न 329. फखरुद्दीन की दरगाह स्थित है-  गलियाकोट ( डूंगरपुर )
प्रश्न 330. उषा मस्जिद, उषा मंदिर स्थित है- बयाना ( भरतपुर )

प्रश्न 331. अलाउद्दीन की मस्जिद स्थित है- जालौर

प्रश्न 332. अकबर की मस्जिद स्थित है- आमेर ( जयपुर )
प्रश्न 333. बढ़ार का भोज है- वर पक्ष द्वारा शादी के अगले दिन दिया जाता है
प्रश्न 334. बरी-पड़ला है- वधू के सुसराल से आने वाले वस्त्र
प्रश्न 335. पहरावणी/रंगबरी है- वधू पक्ष द्वारा बारातियो को दिया जाने वाला उपहार

प्रश्न 336. डावरिया है- दहेज मे दासियाँ/कुंवारी कन्याएं देने की प्रथा

प्रश्न 337. मोसर है- मृत्युभोज
प्रश्न 338. जोसर है- जीते जी मृत्युभोज
प्रश्न 339. अंगरखी का अन्य नाम है- बुगतरी
प्रश्न 340. पन्ने की सबसे बड़ी मण्डी स्थित है- जयपुर

प्रश्न 341. डेरू वाध का संबंध किस देवता से है- गोगाजी

प्रश्न 342. केर की लकड़ी का फूंक वाध है- सतारा
प्रश्न 343. दो बान्सुरी का वाध है- अलगोजा
प्रश्न 344. नड़ का प्रसिद्ध कलाकार है- कर्णा भील ( जैसलमेर )
प्रश्न 345. चरवाहो का जातीय वाध है- अलगोजा

प्रश्न 346. नागफणी क्या है- सुषिर वाध ( नाग के आकार का )

प्रश्न 347. लौहे की कड़ी से बना वाध है- मोरचंग/मुखचंग
प्रश्न 348. बकरी की खाल से बना थेलेनुमा वाध है- मशक
प्रश्न 349. भैरूजी के भोपो का वाध है- मशक
प्रश्न 350. कद्दू की गोल तुम्बी मे बांस फसाकर बनाये जाने वाला वाध है- इकतारा वाध

No comments:

Post a Comment

कृपया कमेंट में कोई भी लिंक ना डालें