राजस्थान में ऊँट व ऊँट की नस्लें

👉 राजस्थान में ऊँट व ऊँट की नस्लें

👉 बाड़मेर-
✍ राजस्थान में सर्वाधिक ऊँटों वाला जिला बाड़मेर है।

👉 प्रतापगढ़-
✍ राजस्थान में सबसे कम ऊँटों वाला जिला प्रतापगढ़ है।




👉 राजस्थान में ऊँटों की नस्लें-

1. गोमठ ऊँट-
✍ विशेषता-
✍ राजस्थान में गोमठ ऊंट सर्वाधिक जोधपुर की फलोदी तहसिल में पाया जाता है।
✍ गोमठ ऊँट सवारी हेतु प्रसिद्ध माना जाता है।

2. नाचना ऊँट-
✍ विशेषता-
✍ राजस्थान में नाचना ऊँट सर्वाधिक जैसलमेर में पाया जाता है।
✍ यह ऊँट सबसे सुन्दर ऊँट माना जाता है।
✍ यह ऊँट राजस्थान में नाचने हेतु प्रसिद्ध है।

3. जैसलमेरी ऊँट-
✍ विशेषता-
✍ राजस्थान में जैसलमेरी ऊँट सर्वाधिक जैसलमेर में पाया जाता है जिसे रेगिस्तान का जहाज भी कहा जाता है।

👉 राजस्थान में ऊँटों की अन्य नस्लें-
1. अलवरी ऊँट
2. सिंधी ऊँट
3. कच्छी ऊँट
4. बीकानेरी ऊँट

👉 ऊँटों से संबंधि अन्य तथ्य-

👉 मोहम्मद बिन कासिम-
✍ भारत में सर्वप्रथम ऊंट मोहम्मद बिन कासिम लेकर आया था इसीलिए भारत में ऊंट लाने का श्रेय मोहम्मद बिन कासिम को दिया जाता है।

👉 पाबूजी-
✍ राजस्थान में ऊंट सर्वप्रथम ऊंट पाबूजी लेकर आये थे इसीलिए राजस्थान में ऊंट लाने का श्रेय पाबूजी महाराज को दिया जाता है।
✍ पाबूजी को ऊंटो का देवता भी कहते है।

👉 30 जून 2014-
✍ राजस्थान सरकार ने 30 जून 2014 को ऊँट को राजस्थान के राज्य पशु का दर्जा दिया था जिसकी घोषणा बीकानेर जिले में की गई थी।

👉 रेबारी जाति या राईका जाति-
✍ राजस्थान में ऊँट पालने के लिए रेबारी जाति प्रसिद्ध है।

👉 सारणेश्वर महादेव मंदिर-
✍ स्थित- सिरोही (राजस्थान)
✍ इस मंदिर में भाद्रपद शुक्ला द्वादशी के दिन रेबारी जाति का सबसे बड़ा मेला लगता है।

👉 उस्ता कला-
✍ राजस्थान में ऊँट की खाल के उपर की जाने वाली मिनाकारी को उस्ता कला कहते है।
✍ उस्ता कला के लिए राजस्थान के बीकानेर जिले का हिसामुद्दीन उस्ता  का परिवार प्रसिद्ध है।

👉 काॅपी-
✍ राजस्थान में ऊंट की खाल से बनाये जाने वाले ठण्डे पानी के जलपात्रों को काॅपी कहा जाता है।

👉 गंगा रिसाला-
✍ बीकानेर के महाराजा गंगासिंह ने एक ऊँट सेना तैयार की थी जिसे गंगा रिसाला के नाम से जाना जाता है।

👉 उरमूल डेयरी-
✍ स्थित- बीकानेर (राजस्थान)
✍ यह भारत की एकमात्र ऊँटनी के दूध की डेयरी है।
✍ ऊंटनी के दूध में भरपुर मात्रा में विटामीन सी पाया जाता है।

👉 गोरबंद-
✍ यह राजस्थान का एक ऊँट श्रृंगार गीत है।

👉 गिरबाण-
✍ यह ऊँट के नाक में डाले जाने वाला आभूषण है।
✍ गिरबाण मुख्यतः लकड़ी का बना होता है।

👉 ऊँट अनुसंधान केन्द्र-
✍ स्थित- जोहड़बीड़, बीकानेर (राजस्थान)

No comments:

Post a Comment

कृपया कमेंट में कोई भी लिंक ना डालें