Type Here to Get Search Results !

भूकंप महत्वपूर्ण तथ्य (Earthquake Significant Facts)

भूकंप (Earthquake) 
👉सिस्मोलाॅजी (Seismology)-
➯विज्ञान की वह शाखा जिसमें भूकंप का अध्ययन किया जाता है उसे सिस्मोलाॅजी कहते है।

👉भूकंप (Earthquake)-
➯पृथ्वी पर अचानक से पैदा हुए कंपनों को भूकंप कहा जाता है।

👉भूकंप आने के कारण-
1. ज्वालामुखी का फटना।
2. हाइड्रोजन तथा परमाणु बमों का परिक्षण करना।
3. पथ्वी की घूर्णन गति।
4. पृथ्वी की पलेटों (चट्टान के टुकड़े) में गति।

👉सिस्मोग्राफ (Seismograph)-
➯सिस्मोग्राफ नामक यंत्र की सहायता से भूकंप की तरंगों का अध्ययन किया जाता है। या भूकंप का पता लगाया जाता है।

👉रिक्टर स्केल (Richter scale)-
➯रिक्टर स्केल से भूकंप की तरंगों की गति मापी जाती है।
➯रिक्टर स्केल में 0 से 9 तक मान होता है।
➯जिस भूकंप का मान 7 रिक्टर स्केल होता है वह भूकंप विनाशकारी श्रेणी का भूकंप माना जाता है।

👉मरकेली स्केल (Mercalli Scale)-
➯मरकेली स्केल से भी भूकंप की तरंगों की गति मापी जाती है।
➯मरकेली स्केल में 1 से 12 तक मान होता है।

👉प्रशांत महासागर (Pacific Ocean)-
➯विश्व में सर्वाधिक भूकंप प्रशांत महासागर में अाते है।

👉एशिया महाद्वीप (Asia Continent)-
➯विश्व में सर्वाधिक भूकंपों वाला महाद्वीप एशिया महाद्वीप है।

👉आॅस्ट्रेलिया महाद्वीप (Australia Continent)-
➯विश्व में सबसे कम भूकंपों वाला महाद्वीप अाॅस्ट्रेलिया महाद्वीप है।

👉जापान (Japan)-
➯विश्व में सर्वाधिक भूकंपों वाला देश जापान है।

👉भारत में भूकंप (Earthquake In India)-
➯भारत में सर्वाधिक भूकंप वाला क्षेत्र हिमाचल प्रदेश है।
➯भारत में भूकंप की दृष्टि से सबसे सुरक्षित क्षेत्र प्रायद्वीप भारत है।
➯भारत में भूंकप से सबसे ज्यादा विनाश होने की संभावना दिल्ली में बनी रहती है।

👉अधिकेंद्र/Focus-
➯वह स्थान जहाँ भूकंप उत्पन या पैदा होता है उसे अधिकेंद्र कहते है।

👉उपरिकेंद्र/Epicenter-
➯वह स्थान जहाँ धरातल पर सबसे पहले भूकंपीय लहरों या तरंगों को महसुस किया जाता है उस स्थान को उपरिकेंद्र कहते है।

👉रेडाॅन गैस (Radon Gas)-
➯भूकंप आने से पहले वायुमण्डल में रेडाॅन गैसों की ही मात्रा बढ़ जाती है।

👉प्रत्यास्थता ऊर्जा (Elastic Energy)-
➯भूकंप में प्रत्यास्था ऊर्जा ही होती है।

👉प्रत्यास्थता ऊर्जा के उदाहरण-
1. खींचा हुआ रबर
2. खींची गई स्प्रिंग
3. फुटबाॅल का जमीन से टकराने पर वापस हवा में उछलना प्रत्यास्थता ऊर्जा का उदाहरण है।

👉भूकंप की तरंगे (Waves of Earthquake)-
➯भूकंप में मुख्यतः तीन प्रकार की तरंगे या लहरे पायी जाती है जैसे-
1. P-तरंगे या लहरे
2. S-तरंगे या लहरे
3. L-तरंगे या लहरे

1. P-तरंगे या लहरे (Primary Waves)-
➯P-तरंगे भूकंप की सबसे तेज गति से चलने वाली तरंगे होती है।
➯P-तरंगे 8 km/Sec से 14 Km/Sec तक की रफतार से चलती है।

➯P-तरंगों के उपनाम (P-Waves Nickname)-
1. संपीड़ित तरंगे
2. ध्वनि तरंगे
3. अनुदैर्ध्य तरंगे

2. S-तरंगे या लहरे (Secondary Waves)-
S-तरंगों को द्वितीय तरंगे तथा अनुप्रस्थ तरंगे भी कहते है।

3. L-तरंगे या लहरे (Long Waves)-
➯L-तरंगो को धरातलीय तरंगे भी कहते है।
➯भूकंप के दौरान सर्वाधिक हानि पहुंचाने वाली तरंगे L-तरंगे ही होती है।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad