Type Here to Get Search Results !

पृथ्वी की आंतरिक संरचना - (Internal Structure of The Earth)

👉 पृथ्वी की आंतरिक संरचना - (Internal Structure of The Earth)

👉 एडवर्ड स्वेज-
✍ एडवर्ड स्वेज जर्मनी के प्रसिद्ध वैज्ञानिक थे।
✍ एडवर्ड स्वेज ने पृथ्वी को आंतरिक दृष्टि से तीन भागों में बाटा है जैसे-

1. भू-पर्पटी (भूपर्पटी)
2. मैंटल
3. क्रोड/ कोर

1. भूपर्पटी (Crust)-
✍ भूपर्पटी को पटल भी कहते है।
✍ भूपर्पटी पृथ्वी की सबसे उपरी, सबसे बाहरी तथा सबसे पतली परत होती है।
✍ भूपर्पटी की औसत गहराई 35 किलोमीटर होती है।
✍ भूपर्पटी के प्रति 32 मीटर की गहराई में जाने पर तापमान में 1 बढ़ोतरी होती है।
✍ भूपर्पटी पर ही आग्नेय चट्टाने पायी जाती है।
✍ आग्नेय चट्टानों से ही हमें सोना, चांदी, ताम्बा, हीरा, ग्रेनाइट आदि प्राप्त होते है।

👉 सियाल (SiAl)-
✍ भूपर्पटी को सियाल भी कहते है क्योकी भूपर्पटी में सर्वाधिक मात्रा में सिलिका (Si) तथा एल्युमिनियम (Al) धातु पायी जाती है।

2. मैंटल (Mantle)/ प्रावार-
✍ इस परत की औसत गहराई 2900 किलोमीटर तक होती है जो की सर्वाधिक महासागरों में पायी जाती है।
✍ मैंटल परत में सर्वाधिक मात्रा में बेसाल्ट चट्टाने पायी जाती है। इसीलिए मैंटल परत को White House of The Earth भी कहते है।

👉 सिमा (SiMa)-
✍ मैंटल परत को सिमा ((SiMa)) भी कहते है क्योकी इस परत में सर्वाधिक मात्रा में सिलिका (Si) तथा मैग्नीशियम (Ma) पाया जाता है।

3. कोर/ क्रोड (Core)-
✍ क्रोड पृथ्वी की सबसे निचली, सबसे गहरी परत होती है।
✍ क्रोड परत की औसत गहराई 6371 किलोमीटर होती है।
✍ पृथ्वी की क्रोड परत में ही सर्वाधिक चुम्बकिय क्षेत्र पाया जाता है।

👉 नीफे (Nife)-
✍ पृथ्वी की क्रोड परत को नीफे भी कहते है क्योकी क्रोड परत में सर्वाधिक मात्रा में निकिल (Ni) तथा फरस (fe)/ लोहा पाया जाता है।

👉 भूकंप की S तरंगें-
✍ भूकंप की S तरंगें क्रोड परत को तरल होने के कारण पार नहीं कर पाती है।

Post a Comment

4 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें और अपना कीमती सुझाव देने के लिए यहां कमेंट करें, पोस्ट से संबंधित आपका किसी भी प्रकार का सवाल जवाब हो तो कमेंट में पूछ सकते है।

Top Post Ad

Below Post Ad