राजस्थान का भूगोल- एक परिचय

राजस्थान का सामान्य परिचय-

राजस्थान के प्राचीन नाम-

1. ऋग्वेद- ऋग्वेद में राजस्थान का नाम ब्रहमवर्त लिखा गया है।

2. रामायण- महर्षि वाल्मीकि द्वारा रचित रामायण नामक ग्रंथ में राजस्थान के लिए मरुकांतार शब्द का प्रयोग किया गया है।

3. मुहणौत नैणसी री ख्यात तथा राजरूपक- मुहणोत नैणसी री ख्यात तथा राजरूपक नामक ग्रंथ में राजस्थान के लिए राजस्थान शब्द का प्रयोग किया गया है।

4. जाॅर्ज थाॅमस- जाॅर्ज थाॅमस ने सर्वप्रथम 1800 ई. में राजस्थान के लिए राजपूताना शब्द का प्रयोग किया था।

5. कर्नल जेम्स टाॅड- कर्नल जेम्स टाॅड ने राजस्थान के लिए राजस्थान, रजवाड़ा तथा रायथान नामक शब्दों का प्रयोग किया था।

25 मार्च 1948- स्वतन्त्रता के बाद पहली बार राजस्थान नाम का प्रयोग एकीकरण के दूसरे चरण के दौरान 25 मार्च 1948 को किया गया था।

26 जनवरी 1950- राजस्थान का विधिवत रूप से राजस्थान नाम एकीकरण के छठे चरण में 26 जनवरी 1950 को दिया गया था।


बसंतगढ़ शिलालेख- बसंतगढ़ शिलालेख राजस्थान के सिरोही जिले में स्थित है। यह शिलालेख विक्रम संवंत 682 (625 ई.) का है। यह शिलालेख कुटिल लिपि तथा संस्कृत भाषा में लिखि गया है। बंसतगढ़ शिलालेख चावड़ा या चावडा वंश के शासक वर्मलात के समय का माना जाता है। बसंतगढ़ शिलालेख में राजस्थान के लिए सर्वप्रथम लिखित प्रमाण के रूप में राजस्थान द्वितीया शब्द मिला।


कर्क रेखा- कर्क रेखा को 23½° (23.5°) उत्तरी अक्षांश रेखा भी कहते है। राजस्थान में कर्क रेखा डूंगरपुर जिले की चिखली (चिकली) तहसील के चिखली (चिकली) गांव के नजदीक से होते हुए बांसवाड़ा जिले की कुशलगढ़ तहसील से गुजरती है। राजस्थान में कर्क रेखा की कुल लम्बाई 26 किलोमीटर है।


आकृति- राजस्थान की आकृति पतंगाकार या विषमकोणीय चतुर्भुजाकार जैसी है। तथा भारत की आकृति चतुष्कोणीय है। राजस्थान की आकृति के बारे में सर्वप्रथम टी.एच. हेण्डले ने बताया था।


लम्बाई- राजस्थान की उत्तर से दक्षिण की कुल लम्बाई 826 किलोमीटर है। तथा पूर्व से पश्चिम की कुल लम्बाई 869 किलोमीटर है। राजस्थान की उत्तर-दक्षिण व पूर्व-पश्चिम की लम्बाई में कुल 43 किलोमीटर का अन्तर है।


राजस्थान की स्थिति एवं विस्तार-

भारत- राजस्थान भारत के उत्तर-पश्चिम में स्थित है। अर्थात् भारत के मानचित्र में राजस्थान की निरपेक्ष स्थिति उत्तर-पश्चिम है।

ग्लोब या गोलार्द्ध- ग्लोब में राजस्थान उत्तरी-पूर्वी गोलार्द्ध में स्थित है।

मेड़ता (नागौर)- राजस्थान के किसी भी स्थान की निरपेक्ष स्थिति मेड़ता (नागौर) से ज्ञात की जाती है।

नागपुर (महाराष्ट्र)- भारत के किसी भी स्थान की निरपेक्ष स्थिति महाराष्ट्र के नागपुर से ज्ञात की जाती है।


राजस्थान में सूर्य की किरणों की स्थिति-

21 जून- राजस्थान में सबसे बड़ा दिन व सबसे छोटी रात 21 जून को होती है क्योकी 21 जून को दिन 13 घण्टे व 27 मिनट का होता है तथा रात 10 घण्टे 33 मिनट की होती है। राजस्थान का सबसे गर्म दिन भी 21 को ही होता है क्योकी 21 जून के दिन राजस्थान में सूर्य की किरणें सर्वाधिक सीधी होती है। राजस्थान में सूर्य की सर्वाधिक सीधी किरणों वाला जिला बांसवाड़ा है। बांसवाड़ा जिले में सूर्य की सर्वाधिक सीधी किरणें 21 जून को पड़ती है।


22 दिसम्बर- राजस्थान में सबसे छोटा दिन व सबसे बड़ी रात 22 दिसम्बर को होती है। राजस्थान में सबसे ठंडा दिन भी 22 दिसम्बर को होता है क्योकी 22 दिसम्बर के दिन राजस्थान में सूर्य की किरणें सर्वाधिक तिरछी होती है। राजस्थान में सूर्य की सर्वाधिक तिरछी किरणों वाला जिला श्री गंगानगर है। श्री गंगानगर में सूर्य की सर्वाधिक तिरछी किरणें 22 दिसम्बर को पड़ती है। 


21 मार्च व 23 सितम्बर- राजस्थान में 21 मार्च तथा 23 सितम्बर को दिन व रात की अवधि बराबर होती है।


सूर्योदय व सूर्यास्त- राजस्थान में सबसे पहले सूर्योदय व सबसे पहले सूर्यास्त धौलपुर जिले के सिलाना गांव में होता है। तथा राजस्थान में सबसे अन्त (सबसे बाद) में सूर्योदय व सबसे अन्त में सूर्यास्त जैसलमेर जिले की सम तहसील के कटरा गांव में होता है। सूर्य को एक देशान्तर पार करने में 4 मिनट का समय लगता है। राजस्थान के पूर्वी तथा पश्चिमी छोर में सूर्योदय व सूर्यास्त का अंतर 35 मिनट 8 सैकण्ड है।


राजस्थान की सीमा-

राजस्थान की स्थलीय सीमा की कुल लम्बाई 5920 किलोमीटर है।

राजस्थान की अन्तराष्ट्रीय सीमा की कुल लम्बाई 1070 किलोमीटर है।

राजस्थान की अन्तर्राज्यीय सीमा की कुल लम्बाई 4850 किलोमीटर है।


अन्तराष्ट्रीय सीमा- 1070 किलोमीटर

भारत में रेडक्लिफ रेखा (अन्तराष्ट्रीय रेखा)- भारत में रेडक्लिफ रेखा की कुल लम्बाई 3310 किलोमीटर है। जो की भारत के क्रमशः चार राज्यों से लगती है। जैसे-

1. जम्मू-कश्मीर- जम्मू कश्मीर में रेडक्लिफ रेखा की कुल लम्बाई 1216 किलोमीटर है। भारत में रेडक्लिफ रेखा की सबसे अधिक सीमा जम्मू कश्मीर राज्य को लगती है।

2. राजस्थान- राजस्थान में रेडक्लिफ रेखा की कुल लम्बाई 1070 किलोमीटर है।

3. पंजाब- पंजाब में रेडक्लिफ रेखा की कुल लम्बाई 514 किलोमीटर है।

4. गुजरात- गुजरात में रेडक्लिफ रेखा की कुल लम्बाई 510 किलोमीटर है। भारत में रेडक्लिफ रेखा की सबसे कम सीमा गुजरात राज्य को लगती है।


राजस्थान में रेडक्लिफ रेखा (अन्तराष्ट्रीय रेखा)- राजस्थान में रेडक्लिफ रेखा की कुल लम्बाई 1070 किलोमीटर है। जो की राजस्थान के क्रमशः चार जिलों से लगती है। जैसे-

1. श्री गंगानगर- श्री गंगानगर में रेडक्लिफ रेखा की कुल लम्बाई 210 किलोमीटर है।

2. बीकानेर- बीकानेर में रेडक्लिफ रेखा की कुल लम्बाई 168 किलोमीटर है। राजस्थान में रेडक्लिफ रेखा की सबसे कम सीमा बीकानेर जिले को लगती है।

3. जैसलमेर- जैसलमेर में रेडक्लिफ रेखा की कुल लम्बाई 464 किलोमीटर है। राजस्थान में रेडक्लिफ रेखा की सबसे अधिक सीमा जैसलमेर जिले को लगती है।

4. बाड़मेर- बाड़मेर में रेडक्लिफ रेखा की कुल लम्बाई 228 किलोमीटर है।


पाकिस्तान- राजस्थान के साथ पाकिस्तान के 2 प्रांत (पंजाब व सिंध प्रांत) व 9 जिलों की सीमा लगती है। जैसे-

1. पंजाब प्रांत- पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के 3 जिलों की सीमा राजस्थान से लगती है। जैसे- बहावलनगर, बहालपुर, रहिमयार खाँ


2. सिंध प्रांत- पाकिस्तान के सिंध प्रांत के 6 जिलों की सीमा राजस्थान से लगती है। जैसे- घोटकी, सुकुर, सुंधर, खैरपुर, उमरकोट, थारपारकर


जिला मुख्यालय- राजस्थान का पाकिस्तान से सबसे निकटतम जिला मुख्यालय श्रीगंगानगर है। तथा संभागीय मुख्यालय बीकानेर है।


अन्तर्राज्यीय सीमा- 4850 किलोमीटर

राजस्थान में अन्तर्राज्यीय सीमा की कुल लम्बाई 4850 किलोमीटर है जो की क्रमशः 5 राज्यों से लगती है। जैसे-

1. पंजाब- 89 किलोमीटर

2. हरियाणा- 1262 किलोमीटर

3. उत्तर प्रदेश- 877 किलोमीटर

4. मध्य प्रदेश- 1600 किलोमीटर

5. गुजरात- 1022 किलोमीटर

1. पंजाब- राजस्थान के साथ सबसे कम अन्तर्राज्यीय सीमा पंजाब की लगती है। राजस्थान को पंजाब की अन्तर्राज्यीय सीमा उत्तर दिशा में लगती है। राजस्थान, पंजाब के साथ कुल 89 किलोमीटर लम्बी अन्तर्राज्यीय सीमा बनाता है। राजस्थान के 2 जिले श्री गंगानगर व हनुमानगढ़ की अन्तर्राज्यीय सीमा पंजाब के 2 जिले फाजिल्का व मुक्तसर के साथ लगती है। पंजाब के साथ सबसे कम सीमा राजस्थान का हनुमानगढ़ जिला बनाता है तथा सबसे बड़ी सीमा श्री गंगानगर जिला बनाता है।


2. हरियाणा- राजस्थान को हरियाणा की अन्तर्राज्यीय सीमा उत्तर-पूर्व दिशा में लगती है। राजस्थान, हरियाणा के साथ कुल 1262 किलोमीटर लम्बी अन्तर्राज्यीय सीमा बनाता है। राजस्थान के 7 जिलों की अन्तर्राज्यीय सीमा हरियाणा के 7 जिलों के साथ लगती है। जैसे-

#राजस्थान के 7 जिलेहरियाणा के 7 जिले
1हनुमानगढ़ (बड़ी सीमा)सिरसा
2चुरूहिसार
3झुन्झुनूफतेहाबाद
4सीकरमहेन्द्रगढ़
5जयपुर (छोटी सीमा)भिवानी
6अलवररेवाड़ी
7भरतपुरमेवात
हरियाणा के साथ सबसे कम सीमा राजस्थान का जयपुर जिला बनाता है तथा सबसे बड़ी सीमा हनुमानगढ़ जिला बनाता है।

3. उत्तर प्रदेश- राजस्थान को उत्तर प्रदेश की अन्तर्राज्यीय सीमा पूर्व दिशा में लगती है। राजस्थान, उत्तर प्रदेश के साथ कुल 877 किलोमीटर लम्बी अन्तर्राज्यीय सीमा बनाता है। राजस्थान के 2 जिले भरतपुर व धौलपुर की अन्तर्राज्यीय सीमा उत्तर प्रदेश के 2 जिले आगरा व मथुरा के साथ लगती है। उत्तर प्रदेश के साथ सबसे कम सीमा राजस्थान का धौलपुर जिला बनाता है तथा सबसे बड़ी सीमा भरतपुर जिला बनाता है।

पार्वती नदी- पार्वती नदी राजस्थान व उत्तर प्रदेश के बीच अन्तर्राज्यीय सीमा बनाती है। पार्वती नदी यमुना नदी की सहायक नदी है।

4. मध्य प्रदेश- राजस्थान को मध्य प्रदेश की अन्तर्राज्यीय सीमा दक्षिण-पूर्व दिशा में लगती है। राजस्थान, मध्य प्रदेश के साथ कुल 1600 किलोमीटर लम्बी अन्तर्राज्यीय सीमा बनाता है। राजस्थान के 10 जिलों की अन्तर्राज्यीय सीमा मध्य प्रदेश के 10 जिलों के साथ लगती है। जैसे-
#राजस्थान के 10 जिलेमध्य प्रदेश के 10 जिले
1धौलपुरमुरैना
2करौलीशिवपुरी
3सवाई माधोपुरश्योपुर
4कोटाझाबुआ
5झालावाड़ (सबसे अधिक)गुना
6चित्तौड़गढ़राजगढ़
7भीलवाड़ा (सबसे कम)मालवा
8बाराँमन्दसौर
9प्रतापगढ़रतलाम
10बांसवाड़ानीमच
मध्य प्रदेश के साथ सबसे कम सीमा राजस्थान का भीलवाड़ा जिला बनाता है तथा सबसे बड़ी सीमा झालावाड़ जिला बनाता है। राजस्थान के 2 जिले कोटा तथा चित्तौड़गढ़ मध्य प्रदेश के साथ दो तरफ से अन्तर्राज्यीय सीमा बनाते है।

नीमच जिला (मध्य प्रदेश)- मध्य प्रदेश का नीमच जिला तीन तरफ से राजस्थान से घिरा हुआ है।

चम्बल नदी- चम्बल नदी भारत की सबसे लम्बी अन्तर्राज्यीय सीमा बनाने वाली नदी है। चम्बल नदी राजस्थान तथा मध्य प्रदेश के बीच अन्तर्राज्यीय सीमा बनाती है।

पार्वती नदी- पार्वती नदी राजस्थान तथा मध्य प्रदेश के बीच अन्तर्राज्यीय सीमा बनाती है। पार्वती नदी चम्बल नदी की सहायक नदी है।


5. गुजरात- राजस्थान को गुजरात की अन्तर्राज्यीय सीमा दक्षिण दिशा में लगती है। राजस्थान, गुजरात के साथ कुल 1022 किलोमीटर लम्बी अन्तर्राज्यीय सीमा बनाता है। राजस्थान के 6 जिलों की अन्तर्राज्यीय सीमा गुजरात के 6 जिलों के साथ लगती है। जैसे-
#राजस्थान के 6 जिलेगुजरात के 6 जिले
1बांसवाड़ाकच्छ
2डूंगरपुरबनासकांठा
3उदयपुर (सबसे अधिक)साबरकांठा
4सिरोहीदाहोद
5जालौरअरावली
6बाड़मेर (सबसे कम)माही सागर
गुजरात के साथ सबसे कम सीमा राजस्थान का बाड़मेर जिला बनाता है तथा सबसे बड़ी सीमा उदयपुर जिला बनाता है।

राजस्थान के कुल 4 जिले ऐसे है जो दो-दो राज्यों के साथ अन्तर्राज्यीय सीमा बनाते है। जैसे-
#राजस्थान के जिलेराज्य
1हनुमानगढ़पंजाब व हरियाणा
2भरतपुरहरियाणा व उत्तर प्रदेश
3धौलपुरउत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश
4बांसवाड़ामध्य प्रदेश व गुजरात

श्री गंगानगर व बाड़मेर- राजस्थान के श्री गंगानगर व बाड़मेर दो मात्र ऐसे जिले  है जो अन्तर्राज्यीय व अन्तर्राष्ट्रीय दोनों सीमा बनाते है।

झालावाड़- राजस्थान का झालावाड़ जिला सर्वाधिक अन्तर्राज्यीय सीमा बनाता है। झालावाड़ कुल 560 किलोमीटर लम्बी अन्तर्राज्यीय सीमा बनाता है।

बाड़मेर- राजस्थान का बाड़मेर जिला सबसे कम अन्तर्राज्यीय सीमा बनाता है। बाड़मेर कुल 14 किलोमीटर लम्बी अन्तर्राज्यीय सीमा बनाता है।

भीलवाड़ा- राजस्थान का भीलवाड़ा जिला दूसरी सबसे कम अन्तर्राज्यीय सीमा बनाता है। भीलवाड़ा कुल 16 किलोमीटर लम्बी अन्तर्राज्यीय सीमा बनाता है।

राजस्थान के आंतरिक जिले (स्थलाबद्ध जिले)- राजस्थान के वे जिले जिनके साथ न तो किसी देश की सीमा लगती है और न ही किसी राज्य की सीमा लगती है आंतरिक जिले कहलाते है। राजस्थान के आंतरिक जिले कुल 8 है जैसे-
1. जोधपुर
2. नागौर- नागौर के साथ 7 जिलों की सीमा लगती है।
3. पाली- पाली के साथ 8 जिलों की सीमा लगती है।
4. अजमेर- अजमेर के साथ 6 जिलों की सीमा लगती है।
5. राजसमंद
6. बूंदी
7. टोंक
8. दौसा

राजस्थान के नवीनतम जिले-
1. अजमेर
2. धौलपुर
3. बाराँ
4. दौसा
5. राजसमंद
6. हनुमानगढ़
7. करौली
8. प्रतापगढ़

1. अजमेर- राजस्थान केअजमेर जिले का गठन 1 नवम्बर 1956 को किया गया था। राजस्थान में अजमेर जिले के गठन के बाद अजमेर राजस्थान का 26वां जिला बन गया था।

2. धौलपुर- राजस्थान के धौलपुर जिले का गठन 15 अप्रैल 1982 को किया गया था। राजस्थान में धौलपुर जिले के गठन के बाद धौलपुर राजस्थान का 27वां जिला बन गया था।

3. बाराँ- राजस्थान के बाराँ जिले का गठन 10 अप्रैल 1991 को किया गया था। राजस्थान में बाराँ जिले के गठन के बाद बाराँ राजस्थान का 28वां जिला बन गया था।

4. दौसा- राजस्थान के दौसा जिले का गठन 10 अप्रैल 1991 को किया गया था। राजस्थान में दौसा जिले के गठन के बाद दौसा राजस्थान का 29वां जिला बन गया था।

5. राजसमंद- राजस्थान के राजसमंद जिले का गठन 10 अप्रैल 1991 को किया गया था। राजस्थान में राजसमंद जिले के गठन के बाद राजसमंद राजस्थान का 30वां जिला बन गया था।

6. हनुमानगढ़- राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले का गठन 12 जुलाई 1994 को किया गया था। राजस्थान में हनुमानगढ़ जिले के गठन के बाद हनुमानगढ़ राजस्थान का 31वां जिला बन गया था।

7. करौली- राजस्थान के करौली जिले का गठन 12 जुलाई 1997 को किया गया था। राजस्थान में करौली जिले के गठन के बाद करौली राजस्थान का 32वां जिला बन गया था।

8. प्रतापगढ़- राजस्थान के प्रतापगढ़ जिले का गठन 26 जनवरी 2008 को किया गया था। राजस्थान में प्रतापगढ़ जिले के गठन के बाद प्रतापढ़ राजस्थान का 33वां जिला बन गया था। वर्तमान में राजस्थान का सबसे नवीनतम जिला प्रतापगढ़ है।

क्षेत्रफल-
राजस्थान का कुल क्षेत्रफल 3,42,239 वर्ग किलोमीटर है। राजस्थान का कुल क्षेत्रफल भारत के क्षेत्रफल का लगभग 10.4 प्रतिशत भाग है। वर्गमील में राजस्थान का कुल क्षेत्रफल 1,32,147 वर्गमील है।
भारत का कुल क्षेत्रफल 32,87,263 वर्ग किलोमीटर है। भारत का कुल क्षेत्रफल विश्व के क्षेत्रफल का 2.42 प्रतिशत भाग है।
राजस्थान क्षेत्रफल में विश्व के लगभग 128 देशों से बड़ा है। जैसे-
1. राजस्थान ब्रिटेन के क्षेत्रफल से 1½ गुणा बड़ा है।
2. राजस्थान श्रीलंका के क्षेत्रफल से 5 गुणा बड़ा है।
3. राजस्थान नेपाल के क्षेत्रफल से 2½ गुणा बड़ा है।
4. राजस्थान इजराइल के क्षेत्रफल से 17 गुणा बड़ा है।
5. राजस्थान चेकोस्लोवाकिया के क्षेत्रफल से 3 गुणा बड़ा है।
6. राजस्थान जर्मनी और जापान के क्षेत्रफल का लगभग बराबर है।

राजस्थान के क्षेत्रफल की दृष्टि से 5 बड़े जिले-
#जिलेक्षेत्रफल
1जैसलमेर38401 वर्ग किलोमीटर
2बीकानेर30247 वर्ग किलोमीटर
3बाड़मेर28387 वर्ग किलोमीटर
4जोधपुर22850 वर्ग किलोमीटर
5नागौर17716 वर्ग किलोमीटर

राजस्थान के क्षेत्रफल की दृष्टि से 6 छोटे जिले-
#जिलेक्षेत्रफल
1धौलपुर3033 वर्ग किलोमीटर
2दौसा3432 वर्ग किलोमीटर
3डूंगरपुर3770 वर्ग किलोमीटर
4राजसमंद3860 वर्ग किलोमीटर
5प्रतापगढ़4449 वर्ग किलोमीटर
6सवाई माधोपुर4496 वर्ग किलोमीटर

भारत के क्षेत्रफल की दृष्टि से 3 बड़ें जिले-
#जिलेक्षेत्रफल
1कच्छ45652 वर्ग किलोमीटर
2लेह45110 वर्ग किलोमीटर
3जैसलमेर38401 वर्ग किलोमीटर

माही जिला- भारत का क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटा जिला पाण्डीचेरी का माही जिला है जिसका कुल क्षेत्रफल 9 वर्ग किलोमीटर है।

भारत के क्षेत्रफल की दृष्टि से 3 बड़े राज्य-
#राज्यक्षेत्रफल
1राजस्थान342,239 वर्ग किलोमीटर
2मध्य प्रदेश308,252 वर्ग किलोमीटर
3महाराष्ट्र307,713 वर्ग किलोमीटर

भारत के क्षेत्रफल की दृष्टि से 2 छोटे राज्य-
#राज्यक्षेत्रफल
1गोवा3702 वर्ग किलोमीटर
2सिक्किम7097 वर्ग किलोमीटर

राजस्थान के अंतिम स्थान-
#दिशाअंतिम स्थान
1उत्तरकोणा गाँव, श्री गंगानगर
2दक्षिणबोरकुण्डा गाँव, कुशलगढ़ तहसील, बासवाड़ा
2पूर्वसिलाना गाँव, राजखेड़ा तहसील, धौलपुर
2पश्चिमकटरा गाँव, सम तहसील, जैसलमेर

No comments:

Post a comment

पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें और अपना कीमती सुझाव देने के लिए यहां कमेंट करें, पोस्ट से संबंधित आपका किसी भी प्रकार का सवाल जवाब हो तो कमेंट में पूछ सकते है।