बैंकिंग लोकपाल

बैंकिंग लोकपाल

(Banking Ombudsman)


बैंकिंग लोकपाल (Banking Ombudsman)-

➠भारत में बैंकिंग से संबंधित सेवाओं के प्रति किसी भी प्रकार की शिकायत बैंकिंग लोकपाल (Banking Ombudsman) से की जा सकती है।

➠भारत में बैंकिंग से संबंधित सेवाओं के प्रति किसी भी प्रकार की शिकायत बैंकिंग लोकपाल (Banking Ombudsman) से पहले बैंक मैनेजर से शिकायत की जा सकती है।

➠भारत में बैंकिंग से संबंधित सेवाओं के प्रति किसी भी प्रकार की शिकायत बैंकिंग लोकपाल (Banking Ombudsman) से करने पर बैंकिंग लोकपाल (Banking Ombudsman) के द्वारा उस बैंक पर 1 लाख रुरये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।

➠बैंकिंग लोकपाल (Banking Ombudsman) के फैसले के विरुद्ध अपिल भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के डिप्टी गवर्नर से की जा सकती है।

➠भारत में बैंकिंग लोकपाल (Banking Ombudsman) पहली बार वर्ष 1995 में स्थापित किया गया था।


बैंकिंग संबंधित सेवाओं के प्रति शिकायत (Complaint)-

➠बैंकिंग संबंधित सेवाओं के प्रति किसी भी प्रकार की शिकायत (Complaint) के लिए मुख्यतः तीन स्तर होते है जैसे-

1. बैंक मैनेजर (Bank Manager)

2. बैंकिंग लोकपाल (Banking Ombudsman)

3. भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India- RBI) का डिप्टी गवर्नर (Deputy Governor)


No comments:

Post a Comment

पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें और अपना कीमती सुझाव देने के लिए यहां कमेंट करें, पोस्ट से संबंधित आपका किसी भी प्रकार का सवाल जवाब हो तो कमेंट में पूछ सकते है।