Type Here to Get Search Results !

कण्व वंश

कण्व वंश (Kanva Dynasty)- (75 BC - 30 BC)

  • कण्व वंश का शासन काल 75 ई.पू. से लेकर 30 ई.पू. तक रहा था।
  • कण्व वंश का संस्थापक वासुदेव कण्व था।
  • कण्व वंश में कुल 4 शासक या राजा हुए है।
  • कण्व वंश ने लगभग 45 वर्षों तक शासन किया था।
  • कण्व वंश का साम्राज्य वर्तमान के बिहार राज्य तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश राज्य तक फैला हुआ था।


कण्व वंश के प्रमुख राजा-

  • 1. वासुदेव कण्व
  • 2. भूमिमित्र कण्व
  • 3. नारायण कण्व
  • 4. सुशर्मा कण्व या सुषरमन कण्व


1. वासुदेव कण्व-

  • कण्व वंश की स्थापना वासुदेव कण्व के द्वारा की गई थी।
  • कण्व वंश का पहला शासक वासुदेव कण्व था।
  • वासुदेव कण्व ने शुंग वंश के अंतिम शासक देवभूति की हत्या कर कण्व वंश की नींव रखी थी।
  • वासुदेव कण्व शुंग वंश के अंतिम शासक देवभूति का अमात्य (मंत्री) था।


2. भूमिमित्र कण्व-

  • वासुदेव कण्व के बाद कण्व वंश का अगला शासक भूमिमित्र कण्व था।
  • कण्व वंश का दूसरा शासक भूमिमित्र कण्व था।


3. नारायण कण्व-

  • नारायण कण्व के बाद कण्व वंश का अगला शासक नारायण कण्व था।

  • कण्व वंश का तीसरा शासक नारायण कण्व था।


4. सुशर्मा कण्व या सुषरमन कण्व-

  • नारायण कण्व के बाद कण्व वंश का अगला शासक सुशर्मा कण्व था।
  • कण्व वंश का चौथा शासक सुशर्मा कण्व था।
  • सुशर्मा कण्व कण्व वंश का अंतिम शासक था।
  • 30 ई.पू. में आंध्र भृत्य वंश (सातवाहन वंश) के संस्थापक सिमुक ने कण्व वंश के शासक सुशर्मा कण्व की हत्या कर दी थी।
  • सुशर्मा कण्व की हत्या करने के बाद कण्व वंश का अंत हो गया था।
  • सिमुक ने कण्व वंश के शासक सुशर्मा कण्व की हत्या कर आंध्र भृत्य वंश या सातवाहन वंश की स्थापना की थी।
  • सातवाहन वंश को ही पुराणों में आंध्र भृत्य वंश कहा गया है।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad