Type Here to Get Search Results !

शुंग वंश

 शुंग वंश (185 BC - 75 BC)

(Sunga Dynasty)


शुंग वंश (Sunga Dynasty)-

➠शुंग वंश का शासन काल 185 ई.पू. से लेकर 75 ई.पू. तक का रहा था।

➠शुंग वंश का संस्थापक पुष्यमित्र शुंग था।


शुंग वंश के प्रमुख राजा-

1. पुष्यमित्र शुंग

2. भागभद्र या भगभद्र

3. देवभूति


1. पुष्यमित्र शुंग-

➠पुष्यमित्र शुंग ने शुंग वंश की स्थापना की थी।

➠पुष्यमित्र शुंग अंतिम मौर्य शासक शासक बृहद्रथ मौर्य का सेनापति था।

➠बौद्ध साहित्य में पुष्यमित्र शुंग को बौद्ध धर्म का दुश्मन बताया गया है।

➠बौद्ध साहित्य के अनुसार पुष्यमित्र शुंग ने 84000 स्तूपों को तुड़वा दिया था।

➠पुष्यमित्र शुंग ने पाटलिपुत्र  के कुक्टारा या कुक्टाराम विहार को तोड़ने का असफल प्रयास किया था।

➠पुष्यमित्र शुंग ने विदर्भ के शासक यज्ञसेन को हराया था।

➠पुष्यमित्र शुंग ने ब्राह्मण धर्म को संरक्षण प्रदान किया था।

➠पुष्यमित्र शुंग ने दो अश्वमेघ यज्ञों का आयोजन करवाया था।

➠पुष्यमित्र शुंग के द्वारा करवाये गये अश्वमेघ यज्ञों का पुरोहित पतंजलि था।

➠पुष्यमित्र शुंग के अश्वमेघ यज्ञ की जानकारी धनदेव के अयोध्या अभिलेख से मिलती है।

➠पुष्यमित्र शुंग के शासन काल के दौरान इंडो-ग्रीक (यवनों) ने भारत पर आक्रमण किए थे।


पतंजलि-

➠पतंजलि पुष्यमित्र शुंग के द्वारा करवाये गये अश्वमेघ यज्ञ का पुरोहित था।

➠पंतजलि के द्वारा निम्नलिखित पुस्तके लिखी गई थी।

(I) योग दर्शन

(II) योगसूत्र

(III) महाभाष्य-

➠पतंजलि ने पाणिनि के अष्टाध्यायी पर टीका टीका लिखी थी जिसका नाम महाभाष्य था।


➠पुष्यमित्र शुंग के द्वारा करवाये गये अश्वमेध यज्ञ की जानकारी धनदेव के अयोध्या अभिलेख से मिलती है।

➠पुष्यमित्र शुंग के शासन के दौरान इंडो ग्रीक (यवनों) ने भारत पर आक्रमण किए थे।

➠वसुमित्र ने ग्रीक आक्रमणकारियों को पराजित किया था।

➠वसुमित्र शुंग वंश के शासक पुष्यमित्र शुंग का पोता तथा अग्निमित्र शुंग का बेटा था।

➠वसुमित्र के द्वारा ग्रीक आक्रमणकारियों को पराजित करने की जानकारी कालिदास की मालविकाग्निमित्रम्, पतंजलि का महाभाष्य तथा गार्गी संहिता से मिलती है।

➠गार्गी संहिता ज्योतिष विषय पर आधारित पुस्तक है।


2. भागभद्र या भगभद्र-

➠भागभद्र शुंग वंश का 9वां शासक था।

➠भागभद्र के दरबार में यूनानी दूत हेलियोडोरस आया था।

➠हेलियोडोरस ने भागवत धर्म स्वीकार किया था।

➠हेलियोडोरस ने विदिशा के बेस नगर में गरुड़ स्तम्भ स्थापित करवाया था।

➠बेसनगर भारत के मध्य प्रदेश राज्य के विदिशा जिले में स्थित है।


3. देवभूति-

➠देवभूति शुंग वंश का अंतिम शासक था।

➠वासुदेव कण्व ने देवभूति की हत्या कर दी थी।


शुंग वंश की प्रमुख विशेषताएं-

➠शुंग वंश की पहली राजधानी पाटलिपुत्र थी।

➠शुंग वंश की दूसरी राजधानी विदिशा थी।

➠विदिशा भारत के मध्य प्रदेश राज्य में स्थित है।

➠शुंग वंश ने ब्राह्मण धर्म को संरक्षण प्रदान किया था।

➠शुंग वंश के शासन काल में साँची स्तूप का विस्तार हुआ था।


मनुस्मृति-

➠स्मृति साहित्य में मनुस्मृति से शुंग वंश की जानकारी मिलती है।


मत्स्यपुराण-

➠पुराणों में मत्स्यपुराण से शुंग वंश की जानकारी मिलती है।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad