Type Here to Get Search Results !

पाण्ड्य वंश

पाण्ड्य वंश

(Pandya Dynasty)


पाण्ड्य वंश (Pandya Dynasty)-

➠पाण्ड्य वंश का संस्थापक नेडीयोन था।

➠पाण्ड्य वंश की राजधानी मदुरै थी।

➠पाण्ड्य वंश का प्रतीक चिह्न कार्प (मछली) था।

➠पाण्ड्य वंश का शासन मदुरै (मदुरई) में था।

➠मेगस्थनीज पाण्ड्य राज्य का उल्लेख करता है एवं पाण्ड्य राज्य को माबर देश कहता है।

➠माबर देश मोतियों के व्यापार के लिए प्रसिद्ध था अर्थात् नेगस्थनीज ने पाण्ड्य राज्य को मोतियों के व्यापार के लिए प्रसिद्ध बताया है।

➠मेगस्थनीज ने अनुसार माबर देश में हेराक्ट की पुत्री का शासन था।

➠संगम साहित्य के अनुसार पाण्ड्य राज्य धनी तथा समृद्ध था।

➠पाण्ड्य वंश का प्रारम्भिक उल्लेख पाणिनि की अष्टाध्यायी में मिलता है।

➠पाणिनि की अष्टाध्यायी संस्कृत व्याकरण की पहली पुस्तक है।

➠पाण्ड्य वंश के शासन के दौरान समाज में विधवा महिलाओं के साथ बुरा बर्ताव किया जाता था।


पाण्ड्य राज्य के प्रमुख बंदरगाह-

1. शालीयुर बंदरगाह

2. कोरकाय बंदरगाह

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad