Type Here to Get Search Results !

शक वंश

शक वंश

(Shak Dynasty)


शक वंश (Shak Dynasty)-

➠शक मध्य एशिया की एक बर्बर जाति थी।

➠यू-ची (यूची) कबीले ने शकों को पराजित किया था।

➠यू-ची (यूची) कबीले से पराजित होने के बाद शक भारत की ओर आ गये थे।

➠चीनी साहित्य में शकों की जानकारी मिलती है।

➠चीनी साहित्य में शकों को सई या सईवांग कहा गया है।

➠भारतीय साहित्य में शकों को सीथियन कहा गया है।

➠डेरियस के नक्श-ए-रुस्तम अभिलेख में शकों का उल्लेख मिलता है।

➠शकों ने भारत में चार शाखाएं स्थापित की थी। जैसे- तक्षशिला, मथुरा, उज्जैन, नासिक आदि।

➠भारत में शक वंश दो भागों में विभाजित हो गया था। जैसे-

1. उत्तरी शक

2. पश्चिमी शक


1. उत्तरी शक-

➠शक वंश की उत्तरी शक शाखा बाद में दो भागों में विभाजित हो गयी थी। जैसे-

(I) तक्षशिला

(II) मथुरा


2. पश्चिमी शक-

➠शक वंश की पश्चिमी शक शाखा बाद में दो भागों में विभाजित हो गयी थी। जैसे-

(I) उज्जैन

(II) नासिक


भारत में शक वंश के प्रमुख शासक-

1. रुद्रदामन

2. रुद्रसिंह तृतीय


1. रुद्रदामन-

➠रुद्रदामन भारत में शक वंश का सबसे प्रसिद्ध शासक था।

➠रुद्रदामन ने वशिष्ठी पुत्र पुलमावी को दो बार पराजित किया था।

➠रुद्रदामन ने सुदर्शन झील का जीर्णोद्धार करवाया था। अर्थात् रुद्रदामन ने सुदर्शन झील का पुनर्निर्माण करवाया था।

➠रुद्रदामन के द्वारा सुदर्शन झील के पुनर्निर्माण की जानकारी जूनागढ़ अभिलेख से मिलती है।

➠शकों (रुद्रदामन) ने संस्कृत भाषा को संरक्षण प्रदान किया था।


सुदर्शन झील-

➠सुदर्शन झील का निर्माण चंद्रगुप्त मौर्य के आदेश पर चन्द्रगुप्त मौर्य के राज्यपाल (गवर्नर) पुष्यगुप्त वैश्य ने करवाया था।

➠पुष्यगुप्त वैश्य सुदर्शन झील के पुनर्निर्माण के समय गिरनार का राज्यपाल (गवर्नर) था।

➠सुदर्शन झील भारत के गुजरात राज्य के मध्य सौराष्ट्र के गिरनार में गिरनार पहाड़ी के मध्य में स्थित है।

➠मौर्य वंश के शासक अशोक के आदेश पर अशोक के महामात्य तुषास्प ने सुदर्शन झील का पुनर्निर्माण करवाया था।

➠मौर्योत्तर काल में शक वंश के शासक रुद्रदामन के आदेश पर सौराष्ट्र के गवर्नर सुविशाख ने सुदर्शन झील का पुनर्निर्माण करवाया था।

➠गुप्त वंश के शासक स्कन्दगुप्त के आदेश पर चक्रपालित ने सुदर्शन झील का पुनर्निर्माण करवाया था।

➠गुप्त वंश के शासक स्कन्दगुप्त ने सुदर्शन झील पर बाँध का निर्माण करवाया था।


जूनागढ़ अभिलेख-

➠जूनागढ़ अभिलेख शक वंश के शासक रुद्रदामन का है।

➠जूनागढ़ अभिलेख गुजरात के जूनागढ़ से प्राप्त हुआ है।

➠जूनागढ़ भारत के गुजरात राज्य के जूनागढ़ जिले में स्थित एक नगर है।

➠जूनागढ़ अभिलेख शक संवत 72 (150 ई.) का अभिलेख है।

➠जूनागढ़ अभिलेख से सुदर्शन झील के इतिहास की जानकारी मिलती है।

➠जूनागढ़ अभिलेख शुद्ध संस्कृत भाषा का प्रथम बड़ा अभिलेख है।

➠जूनागढ़ अभिलेख में शक वंश के शासक रुद्रदामन को संगीतज्ञ बताया गया है।


2. रुद्रसिंह तृतीय-

➠रुद्रसिंह तृतीय शव वंश का अंतिम शासक था।

➠रुद्रसिंह तृतीय की हत्या गुप्त वंश के शासक चन्द्रगुप्त द्वितीय ने की थी।

➠चन्द्रगुप्त द्वितीय ने रुद्रसिंह तृतीय की हत्या कर शकारि की उपाधि धारण की थी।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad