Type Here to Get Search Results !

तंत्रिका तंत्र (Nervous System)

तंत्रिका तंत्र

(Nervous System)


तंत्रिका तंत्र (Nervous System)-

  • मनुष्य के शरीर के जो अंग न्यूरॉन (Neuron) से मिलकर बने होते है वह सभी अंग मिलकर तंत्रिका तंत्र का निर्माण करते हैं।
  • तंत्रिका तंत्र को तीन भागों में विभाजित किया गया है। जैसे-
  • 1. केन्द्रीय तंत्रिका तंत्र (Central Nervous System)
  • 2. परिधीय तंत्रिका तंत्र (Peripheral Nervous System)
  • 3. स्वायत्त तंत्रिका तंत्र (Autonomic Nervous System)


1. केन्द्रीय तंत्रिका तंत्र (Central Nervous System)-

  • केन्द्रीय तंत्रिका तंत्र में मनुष्य के शरीर के मस्तिष्क और मेरु भाग को शामिल किया जाता है।


2. परिधीय तंत्रिका तंत्र (Peripheral Nervous System)-

  • परिधीय तंत्रिका तंत्र में मनुष्य के शरीर के कपाल तंत्रिका और मेरु तंत्रिका भाग को शामिल किया जाता है।
  • मनुष्य के शरीर में परिधीय तंत्रिका तंत्र में कपाल तंत्रिका की संख्या 12 जोड़ी होती है।
  • मनुष्य के शरीर में परिधीय तंत्रिका तंत्र में मेरु तंत्रिका की संख्या 31 जोड़ी होती है।


3. स्वायत्त तंत्रिका तंत्र (Autonomic Nervous System)

  • मनुष्य के शरीर में स्वायत्त तंत्रिका तंत्र कपाल तंत्रिका और मेरु तंत्रिका से मिलकर बने गुच्छों का बना होता है।
  • स्वायत्त तंत्रिका तंत्र को दो भागों में विभाजित किया गया है। जैसे-
  • (I) अनुकंपी तंत्रिका तंत्र (Sympathetic Nervous System)
  • (II) परानुकंपी तंत्रिका तंत्र (Parasympathetic Nervous System)


(I) अनुकंपी तंत्रिका तंत्र (Sympathetic Nervous System)-

  • मनुष्य के शरीर में अनुकंपी तंत्रिका तंत्र दुख की स्थित में काम करता है।
  • मनुष्य के शरीर में दुख की स्थिति में जब अनुकंपी तंत्रिका तंत्र काम करता है तब मनुष्य के शरीर में निम्नलिखित परिवर्तन होते हैं।-
  • लार (Saliva) कम हो जाती है।
  • ब्लड प्रेशर या रक्त चाप (Blood Pressure) बढ़ने लगता है।
  • हृदय दर या हार्ट रेट (Heart Rate) बढ़ने लगती है।
  • श्वसन दर (Respiration Rate) कम होने लगती है।
  • पसीना (Sweat) अधिक आने लगता है।


(II) परानुकंपी तंत्रिका तंत्र (Parasympathetic Nervous System)-

  • मनुष्य के शरीर में परानुकंपी तंत्रिका तंत्र सुख की स्थिति या सामान्य स्थिति में काम करता है।
  • मनुष्य के शरीर में सुख की स्थिति या सामान्य स्थिति में जब परानुकंपी तंत्रिका तंत्र काम करता है तब मनुष्य के शरीर में निम्नलिखित परिवर्तन होते है।-
  • लार (Saliva) अधिक आने लगती है।
  • ब्लड प्रेशर या रक्त चाप (Blood Pressure) सामान्य रहता है या कोई परिवर्तन नहीं होता है।
  • हृदय दर या हार्ट रेट (Heart Rate) सामान्य रहती है या कोई परिवर्तन नहीं होता है।
  • श्वसन दर (Respiration Rate) सामान्य रहती है या कोई परिवर्तन नहीं होता है।
  • पसीना (Sweat) सामान्य रहता है यो कोई परिवर्तन नहीं होता है।

महत्वपूर्ण लिंक (Important Link)-

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad