Type Here to Get Search Results !

भारत का एकीकरण (Unification of India)

 भारत का एकीकरण

(Unification of India)


भारत का एकीकरण (Unification of India)-

  • भारत में 15 अगस्त 1947 को कुल 565 रियासतें अस्तित्व में थी जैसे-
  • (1) भारत- 552 रियासतें
  • (2) पाकिस्तान- 13 रियासतें


जम्मू कश्मीर का भारत में विलय-

  • अक्टूबर 1947 को जम्मू कश्मीर का भारत में विलय किया गया था।
  • जम्मू कश्मीर के शासक हरिसिंह ने 26 अक्टूबर 1947 को भारत के विलय पत्र पर हस्ताक्षर किये थे।
  • जम्मू कश्मीर के शासक हरिसिंह के द्वारा भारत के विलय पत्र पर हस्ताक्षर करने के बाद 27 अक्टूबर 1947 को लार्ड माउन्ट बेटन ने जम्मू कश्मीर के विलय पत्र पर हस्ताक्षर किये थे।
  • 27 अक्टूबर 1947 को हरिसिंह तथा माउन्ट बेटन के हस्ताक्षर होने के बाद जम्मू कश्मीर का भारत में विलय हो गया था।


जूनागढ़ रियासत का भारत में विलय-

  • फरवरी 1948 में जूनागढ़ रियासत का भारत में विलय किया गया था।
  • जूनागढ़ रियासत का भारत में विलय जनमत संग्रह के आधार पर किया गया था।
  • जूनागढ़ रियासत का भारत में विलय किया गया उस समय जूनागढ़ रियासत का नवाब मुहम्मद महाबत खान-III तथा दीवान शाहनवाज भुट्टो था।


हैदराबाद रियासत का भारत में विलय-

  • 17 सितम्बर 1948 को हैदराबाद रियासत का भारत में विलय किया गया था।
  • हैदराबाद रियासत का भारत में विलय पुलिस कार्यवाही 'ऑपरेशन पोलो' के द्वारा किया गया था।
  • हैदराबाद रियासत के भारत में विलय के समय हैदराबाद रियासत का निजाम उस्मान अली आसफ खान था।


चन्द्रनगर का भारत में विलय-

  • सन् 1948 में चन्द्रनगर में करवाये गये जनमत संग्रह में चन्द्रनगर के 97% लोगों ने भारत में विलय का समर्थन किया था।
  • 2 फरवरी 1951 को चन्द्रनगर भारत को हस्तांतरित कर दिया गया था।
  • 2 अक्टूबर 1954 को चन्द्रनगर का पंश्चिम बंगाल में विलय कर लिया गया था।


दादर व नगर हवेली का भारत में विलय-

  • भारत में दादर व नगर हवेली का विलय 10वें संविधान संशोधन 1961 के माध्यम से किया गया था।
  • भारतीय संविधान में 10वां संविधान संशोधन 1961 में किया गया था।
  • 10वें संविधान संशोधन के तहत भारतीय संविधान में अनुच्छेद 240 में दादर व नगर हवेली को भारत में विलय कर केन्द्र शासित प्रदेश बनाया गया था।
  • दादर व नगर हवेली को सन् 1954 में पुर्तगालियों से मुक्त करवाया गया था।


गोवा, दमन व दीव का भारत में विलय-

  • भारत में गोवा, दमन व दीव का विलय 12वें संविधान संशोधन से किया गया था।
  • भारतीय संविधान में 12वां संविधान संशोधन 1962 में किया गया था।
  • 12वें संविधान संशोधन के तहत भारतीय संविधान में अनुच्छेद 240 में गोवा, दमन व दीव को भारत में विलय कर केन्द्र शासित प्रदेश बनाया गया था।
  • गोवा, दमन व दीव को सन् 1961 में पुर्तगालियों से मुक्त करवाया गया था।


पांडिचेरी, यनम, करैकल, माहे का भारत में विलय-

  • भारत में पांडिचेरी, यनम, करैकल तथा माहे का विलय 14वें संविधान संशोधन 1962 से किया गया था।
  • भारतीय संविधान में 14वां संविधान संशोधन 1962 में किया गया था।
  • 14वें संविधान संशोधन के तहत भारतीय संविधान के अनुच्छेद 239 (A) तथा अनुच्छेद 240 में पांडिचेरी, यनम, करैकल तथा माहे को भारत में विलय कर पांडिचेरी को केन्द्रशासित प्रदेश बनाया गया था।
  • यमन, पांडिचेरी, करैकल तथा माहे को सन् 1954 में फ्रांसीसियों से मुक्त करवाया गया था।


सिक्किम का भारत में विलय-

  • सिक्किम के भारत में विलय के समय सिक्किम में चोग्याल वंश का शासन था।
  • भारत में विलय के समय सिक्किम में चोग्याल वंश का शासक धर्मराज था।
  • भारत में विलय से पहले सिक्किम को रक्षित राज्य का दर्जा दिया गया था।
  • सिक्किम ने अपने तीन विषय भारत को दे रखे थे। जैसे-
  • (1) विदेश मामले (External Affairs)
  • (2) रक्षा (Defence)
  • (3) संचार (Communication)

  • सिक्किम विधानमण्डल ने सिक्किम शासन अधिनियम 1974 पारित किया था।
  • सिक्किम का भारत में विलय 1975 में किया गया था।
  • सिक्किम का भारत में विलय 1975 में जनमत संग्रह के आधार पर किया गया था।


सिक्किम शासन अधिनियम 1974-

  • सिक्किम शासन अधिनियम 1974 में पारित किया गया था।
  • सिक्किम शासन अधिनियम के अनुसार चोग्याल वंश के शासक को संवैधानिक प्रमुख बनाया गया था।
  • सिक्किम शासन अधिनियम के अनुसार सिक्किम में उत्तरदायी शासन होगा।
  • सिक्किम शासन अधिनिमय 1974 के अनुसार सिक्किम भारत के साथ राजनीतिक सहयोग करेगा।


35वां संविधान संशोधन 1974-

  • भारतीय संविधान में 35वां संविधान संशोधन 1974 में किया गया था।
  • 35वें संविधान संशोधन के द्वारा सिक्किम के साथ भारत के संबंधों को और मजबूत बनाया गया था।
  • 35वें संविधान संशोधन के द्वारा सिक्किम को सहायक राज्य का दर्जा दिया गया था।
  • सिक्किम को सहायक राज्य का दर्जा देने के लिए 35वें संविधान संशोधन से भारतीय संविधान में अनुच्छेद 2A तथा 10वीं अनुसूची जोड़ी गई थी।
  • 35वें संविधान संशोधन के अनुसार सिक्किम से लोकसभा एवं राज्य सभा प्रत्येक में 2 सदस्य चुने जायेगें किन्तु सिक्किम राष्ट्रपति चुनाव में भाग नहीं ले सकता है।
  • 35वें संविधान संशोधन के अनुसार सिक्किम के नागरिकों को भारत की सिविल सेवा (IAS) हेतु योग्य माना जायेगा।
  • 35वें संविधान संशोधन के अनुसार सिक्किम के नागरिकों को उच्च शिक्षण संस्थाओं में प्रवेश की अनुमती दी गई थी।
  • कालान्तर में 1975 में सिक्किम में जनमत संग्रह करवाया गया।
  • 1975 में जनमत संग्रह में सिक्किम की जनता ने भारत में विलय के पक्ष में मतदान किया था।  


36वां संविधान संशोधन 1975-

  • भारतीय संविधान में 36वां संविधान संशोधन 1975 में किया गया था।
  • 36वें संविधान संशोधन 1975 से सिक्किम का पूरी तरह से भारत में विलय कर दिया गया था।
  • 36वें संविधान संशोधन के तहत भारत संविधान में अनुच्छेद 2A व 10वीं अनुसूची को हटा दिया गया था।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad