गुहिल या सिसोदिया वंश

 गुहिल या सिसोदिया राजवंश


गुहिल वंश-

➠ 566 ई. में गुहिल ने राजस्थान में गुहिल राजवंश की स्थापना की थी।


सामोली अभिलेख (उदयपुर)- 646 ई.-

➠सामोली अभिलेख 646 ई. का है।

➠सामोली अभिलेख राजस्थान के उदयपुर जिले से प्राप्त हुआ है।

➠सामोली अभिलेख गुहिल वंश के बारे में जानकारी का प्राचीनतम अभिलेख है। अर्थात् गुहिल वंश की जानकारी का सबसे प्राचीन स्रोत सामोली अभिलेख है।

➠सामोली अभिलेख राजा शिलादित्य से संबंधित है। अर्थात् सामोली अभिलेख राजा शिलादित्य के समय का है।

➠सामोली अभिलेख के अनुसार शिलादित्य को गुहिल का पांचवा वंशज माना जाता है।

➠सामोली अभिलेख से जावर माता मंदिर तथा जावर के खनन उद्योग की जानकारी मिलती है।

➠राजस्थान के उदयपुर जिले की एक जगह का नाम जावर है।


जावर माता का मंदिर-

➠जावर माता का मंदिर राजस्थान के उदयपुर जिले के जावर नामक स्थान पर स्थिति है।

➠जावर माता का मंदिर जेंतक महत्तर ने बनवाया था।


जावर की खान-

➠जावर की खान राजस्थान के उदयपुर जिले के जावर नामक स्थाप पर स्थित है।


गुहिल या सिसोदिय राजवंश की रियासतें-

1. मेवाड़

2. डूंगरपुर

3. बांसवाड़ा

4. प्रतापगढ़

5. शाहपुरा (भिलवाड़ा)


No comments:

Post a Comment

पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें और अपना कीमती सुझाव देने के लिए यहां कमेंट करें, पोस्ट से संबंधित आपका किसी भी प्रकार का सवाल जवाब हो तो कमेंट में पूछ सकते है।