Type Here to Get Search Results !

अंतःस्रावी तंत्र (Endocrine System)

अंतः स्रावी तंत्र (अन्त स्त्रावी तंत्र)

(Endocrine System)


अंतःस्रावी तंत्र (Endocrine System)-

➠मनुष्य के शरीर में अनेक अंतःस्रावी ग्रंथियां (Endocrine Glands) पायी जाती है। तथा सभी अंतःस्रावी ग्रंथियों को मिलाकर अंतःस्रावी तंत्र का निर्माण होता है।


कोशिका (Cell)-

➠मानव शरीर में कोशिका का निर्माण कोशिका झिल्ली, कोशिका केन्द्रक तथा कोशिका द्रव्य से मिलकर होता है।

➠मनुष्य के शरीर में दो प्रकार की कोशिकाएं पायी जाती है। जैसे-

1. स्त्रावी कोशिका (Secretory Cell)

2. अस्त्रावी कोशिका (Non Secretory Cell)


1. स्त्रावी कोशिका (Secretory Cell)-

➠ऐसी कोशिका जो स्त्रावी पदार्थ (Secretory Matter) स्त्रावीत करती है उसे स्त्रावी कोशिका कहते है।


2. अस्त्रावी कोशिका (Non Secretory Cell)-

➠ऐसी कोशिका जो स्त्रावी पदार्थ स्त्रावीत नहीं करती है उसे अस्त्रावी कोशिका कहते है।


ऊतक (Tissue)-

➠मनुष्य के शरीर में अनेक कोशिकाएं पायी जाती है। जब अनेक कोशिकाएं आपस में मिल जाती है तब ऊतक का निर्माण होता है।

➠स्त्रावी तथा अस्त्रावी के आधार पर ऊतक भी दो प्रकार के होते है। जैसे-

1. स्त्रावी ऊतक (Secretory Tissue)

2. अस्त्रावी ऊतक (Non Secretory Tissue)


1. स्त्रावी ऊतक (Secretory Tissue)-

➠मनुष्य के शरीर में पाये जाने वाले स्त्रावी ऊतक को ग्रंथि (Gland) कहते है।

➠ग्रंथि दो प्रकार की होती है। जैसे-

(I) अंतःस्रावी ग्रंथि (Endocrine Gland)

(II) बाह्य स्रावी ग्रंथि या बहिःस्रावी ग्रंथि (Exocrine Gland)


(I) अंतःस्रावी ग्रंथि (Endocrine Gland)

➠वह ग्रंथि जो अपने द्वारा स्रावीत होने वाले पदार्थ को रक्त के अंदर स्रावीत करती है या डालती है उस ग्रंथि को अतंःस्रावी ग्रंथि कहा जाता है।

➠अंतःस्रावी ग्रंथियों में नलिका (Tube) नहीं पायी जाती है।

➠अंतःस्रावी ग्रंथियों से स्रावीत होने वाले पदार्थ को हार्मोन (Hormone) कहते है।

➠हार्मोन का प्रभाव दैहिक (Systemic Effect) होता है। अर्थात् हार्मोन मनुष्य के पूरे शरीर को प्रभावित करता है।


(II) बाह्य स्रावी ग्रंथि या बहिःस्रावी ग्रंथि (Exocrine Gland)-

➠वह ग्रंथि जो अपने द्वारा स्रावीत होने वाले पदार्थ को रक्त के बाहर स्रावीत करती है या डालती है उस ग्रंथि को बाह्य स्रावी ग्रंथि या बहिःस्रावी ग्रंथि कहा जाता है।

➠बाह्य स्रावी ग्रंथियों में नलिकाएं पायी जाती है।

➠बाह्य स्रावी ग्रंथियों से स्रावीत होने वाले पदार्थ को एंजाइम (Enzyme) कहते है।

➠एंजाइम का प्रभाव स्थानीय (Local Effect) होता है। अर्थात् एंजाइम मनुष्य के शरीर में उसी स्थान को प्रभावित करता है जिस स्थान पर एंजाइम स्रावीत होता है।


अंग (Organ)-

➠मनुष्य के शरीर में अनेक ऊतक पाये जाते है। जब अनेक ऊतक आपस में मिल जाते है तब अंग का निर्माण होता है।


शरीर (Body)-

➠मनुष्य के शरीर में अनेक अंग पाये जाते है। जब अनेक अंग आपस में मिलते है तब शरीर का निर्माण होता है।


मनुष्य के शरीर में पायी जाने वाली अंतःस्रावी ग्रंथियां-

➠मनुष्य के शरीर में 9 प्रकार की अंतःस्रावी ग्रंथियां पायी जाती है। जैसे-

1. पीनियल ग्रंथि (Pineal Gland)

2. पीयूष ग्रंथि (Pituitary Gland)

3. थायराइड ग्रंथि (Thyroid Gland)

4. पैराथायराइड ग्रंथि (Parathyroid Gland)

5. थाइमस ग्रंथि (Thymus Gland)

6. अधिवृक्क ग्रंथि (Epirenal Gland) या एड्रीनल ग्रंथि (Adrenal Gland)

7. अग्नाशय ग्रंथि (Pancreas Gland)

8. अंडाशय ग्रंथि (Ovary Gland)

9. वृषण ग्रंथि (Testis Gland)


➠पुरुष के शरीर में 8 प्रकार की अंतःस्रावी ग्रंथियां पायी जाती है। जैसे-

1. पीनियल ग्रंथि (Pineal Gland)

2. पीयूष ग्रंथि (Pituitary Gland)

3. थायराइड ग्रंथि (Thyroid Gland)

4. पैराथायराइड ग्रंथि (Parathyroid Gland)

5. थाइमस ग्रंथि (Thymus Gland)

6. अधिवृक्क ग्रंथि (Epirenal Gland) या एड्रीनल ग्रंथि (Adrenal Gland)

7. अग्नाशय ग्रंथि (Pancreas Gland)

8. वृषण ग्रंथि (Testis Gland)


➠महिला के शरीर में 8 प्रकार की अंतःस्रावी ग्रंथियां पायी जाती है। जैसे-

1. पीनियल ग्रंथि (Pineal Gland)

2. पीयूष ग्रंथि (Pituitary Gland)

3. थायराइड ग्रंथि (Thyroid Gland)

4. पैराथायराइड ग्रंथि (Parathyroid Gland) (संख्या-4)

5. थाइमस ग्रंथि (Thymus Gland)

6. अधिवृक्क ग्रंथि (Epirenal Gland) या एड्रीनल ग्रंथि (Adrenal Gland)

7. अग्नाशय ग्रंथि (Pancreas Gland)

8. अंडाशय ग्रंथि (Ovary Gland)


मिश्रित ग्रंथि (Mixed Gland)-

➠मनुष्य के शरीर में पायी जाने वाली अग्नाशय ग्रंथि को ही मिश्रित ग्रंथि कहा जाता है। क्योंकि अग्नाशय ग्रंथि अंतः स्रावी ग्रंथि (Endocrine Gland) एवं बाह्य स्रावी ग्रंथि (Exocrine Gland) दोनों ग्रंथि है।


लिंग ग्रंथि (Sex Gland)-

➠मनुष्य के शरीर में दो लिंग ग्रंथियां पायी जाती है। जैसे-

1. अंडाशय ग्रंथि (Ovary Gland)- अंडाशय ग्रंथि महिला में पायी जाती है।

2. वृषण ग्रंथि (Testis Gland)- वृषण ग्रंथि पुरुष में पायी जाती है।


मास्टर ग्रंथि (Master Gland)-

➠मनुष्य के शरीर में पाये जाने वाली पीयूष ग्रंथि (Pituitary Gland) को ही मास्टर ग्रंथि कहा जाता है।


सबसे बड़ी ग्रंथि (Largest Gland)-

➠मनुष्य के शरीर में पायी जाने वाली सबसे बड़ी ग्रंथि यकृत (लिवर) ग्रंथि (Liver Gland) है।

➠यकृत ग्रंथि बाह्य स्रावी ग्रंथि (Exocrine Gland) है।


सबसे बड़ी अंतःस्रावी ग्रंथि (Largest Endocrine Gland)-

➠मनुष्य के शरीर में पायी जाने वाली सबसे बड़ी अंतःस्रावी ग्रंथि थायराइड ग्रंथि (Thyroid Gland) है।


सबसे बड़ी बाह्य स्रावी ग्रंथि (Largest Exocrine Gland)-

➠मनुष्य के शरीर में पायी जाने वाली सबसे बड़ी बाह्य स्रावी ग्रंथि यकृत (लिवर) ग्रंथि (Liver Gland) है।


मनुष्य के शरीर में पायी जाने वाली ग्रंथियां-

1. अग्नाशय ग्रंथि (Pancreas Gland) की अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

2. थायराइड ग्रंथि (Thyroid Gland) की अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

3. पीयूष ग्रंथि (Pituitary Gland) की अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

4. पैराथायराइड ग्रंथि (Parathyroid Gland) की अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

5. पीनियल ग्रंथि (Pineal Gland) की अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

6. वृषण ग्रंथि (Testis Gland) की अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

7. अंडाशय ग्रंथि (Ovary Gland) की अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

8. एड्रीनल ग्रंथि (Adrenal Gland) या अधिवृक्क ग्रंथि (Suprarenal Gland) की अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad